तरक्की के रास्ते

इस समाचार को सुनें...

तरक्की के रास्ते। हमारी सकारात्मक सोच ही तो हमारे लिए तरक्की के रास्ते खोलती हैं वरना नकारात्मक सोच तो हमें हमेशा पीछे ही धकेलती हैं। अतः नकारात्मक सोच से सदैव दूर रहे। पढ़ें जोधपुर (राजस्थान) से की सुनील कुमार माथुर कलम से…

जीवन जीना भी एक कला हैं और जिसने इस कला को सीख लिया समझों उसका जीवन धन्य हो गया। जीवन जीना ही हैं तो हंसते मुस्कुराते हुए जीओं। रोते हुए जीवन जीना भी कोई जीना हैं। तभी तो कहते हैं कि मस्त राम मस्ती में आग लगे बस्ती में। कहने का तात्पर्य यह हैं कि हर वक्त टेंशन मुक्त रहिए जब पक्षी चहचहा कर हमें आनंदित करते हैं तो फिर हम इंसान होकर दुखी क्यों।

हमारी सकारात्मक सोच ही तो हमारे लिए तरक्की के रास्ते खोलती हैं वरना नकारात्मक सोच तो हमें हमेंशा पीछे ही धकेलती हैं। अतः नकारात्मक सोच से सदैव दूर रहे। जब भी कोई नयी बात सोचे तो सकारात्मक ही सोचे चूंकि सकारात्मक सोच नई ऊर्जा देती है। अच्छे विचार देती है और वाद – विवादों से दूर रखती हैं। कभो कभार जीवन में ऐसे भी अवसर आते हैं जब ईर्ष्यावश हमारे अपने ही हमें दुखी करने लगते है लेकिन ऐसे में हमें विवेक से कार्य करना चाहिए और उनके इरादों की अनदेखी कर देनी चाहिए।

याद रखिए आपकी कार्यकुशलता से ही लोग आप से जुडने लगेगे। इसलिए अपनी जिम्मेदारियों से भागे नहीं अपितु ईमानदारी के साथ उन्हें निभायें। वही अपने साथियों के साथ आपसी सहमति से आगें बढे इतना ही नहीं जरुरत पडने पर अनुभवी लोगों और बडे बुजुर्गों से राय जरुर लें। इससे आपके जीवन में तनाव कम होगा और कार्य करने की क्षमता को बल मिलेगा। अपने कार्य के साथ ही साथ धर्म कर्म में भी रुचि रखें एवं बडे बुजुर्गों तथा सच्चे साधु संतों का आशीर्वाद लें। सफलता आपके कदम अवश्य ही चूमेगी।

हर समय, हर दिन व हर वार यहां तक की हर पल सफलतादायक होता है। बस जरूरत है आलस का त्याग कर श्रेष्ठ कर्म करें। याद रखिए जीवन में स्व संबंध मजबूत करने के लिए संवाद बनायें रखना आवश्यक है और यह संवाद ही जीवन में नये अवसर का लाभ दिलवाएंगे। जीवन को बेहतर बनाये रखें और ईश्वर की भक्ति करते रहिए। चूंकि वही तो हमारा पालनहार है। वही तो हमेंशा हमारे लिए तरक्की की राह खोले रखता हैं। बस हमें अपना नेक कर्म करते रहना चाहिए।

कवि दीप चन्द्र गुप्ता का साक्षात्कार


👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

तरक्की के रास्ते। हमारी सकारात्मक सोच ही तो हमारे लिए तरक्की के रास्ते खोलती हैं वरना नकारात्मक सोच तो हमें हमेंशा पीछे ही धकेलती हैं। अतः नकारात्मक सोच से सदैव दूर रहे। पढ़ें जोधपुर (राजस्थान) से की सुनील कुमार माथुर कलम से...

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar