श्रद्धा हत्याकाण्ड : 2 नहीं 4 नंबर यूज कर रहा था शातिर आफताब

इस समाचार को सुनें...

श्रद्धा हत्याकाण्ड : 2 नहीं 4 नंबर यूज कर रहा था शातिर आफताब, कड़ियां जोड़ने पर पता चलता है कि आफताब से पास 2 से ज्यादा नंबर्स थे. जिससे यह साबित होता है कि वह एक से ज्यादा फोन इस्तेमाल करता था.

नई दिल्ली। श्रद्धा वॉल्कर की मौत के मामले में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं. दरअसल, अभी तक आरोपी आफताब पूनावाल द्वारा 2 मोबाइल नंबर इस्तेमाल किए जाने की बात सामने आ रही थी, लेकिन अब एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. आरोपी आफताब 2 नहीं, बल्कि 4 नंबर का इस्तेमाल कर रहा था.

आफताब ने जिस नंबर से फ्रिज मंगवाया था, वह नंबर श्रद्धा के नाम पर रजिस्टर्ड है. आरोपी आफताब पूनावाला सोशल मीडिया हैंडल करने के लिए दो नंबर यूज कर रहा था. जबकि मुंबई से पैकर्स एंड मूवर्स से सामान मंगवाने के लिए आफताब ने अलग ही नंबर का इस्तेमाल किया था.

इतना ही नहीं, आरोपी ने फ्रिज मंगवाने के लिए दूसरे नंबर का यूज किया था. जिस तरह से आरोपी अलग-अलग नंबरों को इस्तेमाल कर रहा था, इससे जाहिर होता है कि वह बेहद शातिर है. चौंकाने वाली बात ये है कि जिस नंबर से आफताब ने फ्रिज मंगवाया था, वह नंबर श्रद्धा वॉल्कर के नाम पर रजिस्टर्ड है. फेसबुक पर लॉगिन (Facebook Login) करने के लिए श्रद्धा वहीं नंबर इस्तेमाल करती थी. इतना ही नहीं, श्रद्धा का फेसबुक अकाउंट एक और नंबर से लिंक्ड था.

अंकिता हत्याकाण्ड : दबाव में काम रही हैं जांच एजेंसियां, न्याय मिलने की उम्मीद नहीं

कड़ियां जोड़ने पर पता चलता है कि आफताब से पास 2 से ज्यादा नंबर्स थे. जिससे यह साबित होता है कि वह एक से ज्यादा फोन इस्तेमाल करता था. आजतक के पास इस बात का पुख्ता सबूत है कि आफताब तीन से चार नंबर इस्तेमाल करता था. साइबर एक्सपर्टस अमित दुबे ने बताया कि सोशल मीडिया अकाउंट के वैरिफिकेशन और ऑथेंटिफिकेशन के लिए उन्हें मोबाइल नंबर से जोड़ना पड़ता है. आफताब के फेसबुक अकाउंट पर जो बाते सामने आ रही है, उससे साफ है कि वह लॉगिन के लिए 2 नंबरों का इस्तेमाल करता था. इसी तरह श्रद्धा के फेसबुक अकाउंट से भी 2 नंबर जुड़े हुए हैं.

कोई भी व्यक्ति लॉगिन के लिए 2 नंबरों का इस्तेमाल कर सकता है. संभवत: आरोपी ने फेक प्रोफाइल भी बनाई होगी. ये भी हो सकता है कि आरोपी ने Bumble और अन्य डेटिंग एप के जरिए और दूसरे नंबर रखे होंगे. साइबर एक्सपर्ट की मानें तो क्रिमिनल साइकोलॉजी वाले लोग अक्सर ऐसा करते हैं, ताकि उनकी पहचान के बारे में आसानी से पता न चल सके.

टीचर ने छात्रा से शादी का वादा किया, रेप किया, गर्भवती हुई तो मार दिया


👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

श्रद्धा हत्याकाण्ड : 2 नहीं 4 नंबर यूज कर रहा था शातिर आफताब, कड़ियां जोड़ने पर पता चलता है कि आफताब से पास 2 से ज्यादा नंबर्स थे. जिससे यह साबित होता है कि वह एक से ज्यादा फोन इस्तेमाल करता था.

आरोप कर गया, आरोपी मर गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar