हरकी पैड़ी पर बच्चे की मौत : डुबकी लगवाते रहे परिजन, पोस्टमार्टम में सामने आया सच | Devbhoomi Samachar

हरकी पैड़ी पर बच्चे की मौत : डुबकी लगवाते रहे परिजन, पोस्टमार्टम में सामने आया सच

कोतवाली प्रभारी कुंदन सिंह राणा ने बताया कि पूछताछ के बाद बच्चे के माता-पिता, मौसी को जाने दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बीमारी के कारण खून की कमी होने से बच्चे की पहले ही मौत होने की पुष्टि हो गई। बताया गया कि हरिद्वार लाते समय बच्चे की कार में ही मौत हो गई थी। 

हरिद्वार। दिल्ली के परिवार के सात साल के मासूम बच्चे की मौत गंगा में डूबने से नहीं हुई, बल्कि खून की कमी के कारण हुई थी। ब्लड कैंसर के चलते बच्चे के शरीर में खून की बेहद कमी हो गई थी। इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ है। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया। पूछताछ के बाद बच्चे के माता-पिता, मौसी को भी छोड़ दिया गया।

Read also this : ऋषिकेश से देवप्रयाग तक पौड़ी को जोड़ने के लिए बनेंगे तीन और पुल

बुधवार को सोनिया विहार दिल्ली निवासी राजकुमार सैनी के सात वर्षीय बेटे रवि की हरकी पैड़ी पर संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। पूछताछ में पिता ने पुलिस को बताया था कि रवि ब्लड कैंसर से पीड़ित था। चार दिन पहले दिल्ली एम्स में ले जाने पर चिकित्सकों ने उसे घर ले जाने की सलाह दी थी। इसके बाद वह उसे गंगा स्नान कराने लाए थे, उन्हें उम्मीद थी कि गंगा स्नान से मासूम ठीक हो जाएगा।

Read also this : जेल में बंद पति को चरस देने आई पत्नी; तलाशी के दौरान पकड़ी गई

वहीं, बच्चा कार में ही मूर्छित हो गया था। हरकी पैड़ी पर मासूम को अचेत अवस्था में गंगा में डुबकी लगवाते हुए देखकर लोगों ने हंगामा कर दिया था। लोगों ने बच्चे की डुबोकर हत्या का आरोप लगाया था। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। बुधवार देर शाम चिकित्सकों की मौजदूगी में बच्चे के शव का पोस्टमार्टम किया गया। पुलिस के मुताबिक, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ब्लड कैंसर के चलते खून की कमी होने से बच्चे की मौत हुई।

Read also this : उत्तराखंड के इस जिले में हुए इतने बाल विवाह

कोतवाली प्रभारी कुंदन सिंह राणा ने बताया कि पूछताछ के बाद बच्चे के माता-पिता, मौसी को जाने दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बीमारी के कारण खून की कमी होने से बच्चे की पहले ही मौत होने की पुष्टि हो गई। बताया गया कि हरिद्वार लाते समय बच्चे की कार में ही मौत हो गई थी। बच्चे को माता-पिता और मौसी हरकी पैड़ी ब्रह्मकुंड पर इसलिए गंगा में डुबकी लगवाते रहे कि कोई चमत्कार होगा और बच्चे में जान आ जाएगी। यहां लोगों ने देखकर ये मान लिया कि बच्चे को डुबोकर मारा गया है, लेकिन ऐसा नहीं था।

इस ऑमलेट को खाने पर मिल रहे हैं 50 हजार, पांच दिन नहीं लगेगी भूख, देखें वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar
Verified by MonsterInsights