रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पहले राममय हुई तीर्थनगरी

पंजाब सिंध क्षेत्र इंटर कालेज में श्रीराम प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के उपलक्ष्य में विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य ललित किशोर शर्मा ने श्रीराम के जीवन तथा अयोध्या में श्रीराम मंदिर के एतिहासिक महत्व पर परिचय दिया। विद्यालय की शिक्षिका पुनीता बड़थ्वाल ने राम आएंगे भजन प्रस्तुत किया।

ऋषिकेश। अयोध्या में श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर तीर्थनगरी में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इस कड़ी में मंदिर परिसरों में स्वच्छता अभियान के साथ विभिन्न कार्यक्रमों में राम भक्तों का उत्साह देखते ही बन रहा है। नगर को भी श्रीरामोत्सव को लेकर बेहतर ढंग से सजाया जा रहा है।

हरिद्वार रोड स्थित संत रविदास मंदिर तथा शनि मंदिर में स्वच्छता अभियान चलाकर शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि प्रभु राम अलग-अलग रूपों परिवार, समाज, पुत्र, भाई, पति और राजा के रूप में सभी के लिए आदर्श हैं उन्होंने कहा कि इन्हीं खूबियों के नाते वह मर्यादा पुरुषोत्तम है। उनकी व्यापकता और स्वीकार्यता की भी यही वजह है।

इसे भी पढ़ें – उत्तराखंड के इस जिले में अतिक्रमण ध्वस्तीकरण के आदेश

इस अवसर पर जिला अध्यक्ष रविंद्र राणा, जिला अध्यक्ष महिला मोर्चा कविता साह, मंडल अध्यक्ष सुरेंद्र प्रताप सिंह, महामंत्री तनु तेवतिया, उपाध्यक्ष पुनीता भंडारी, बालम सिंह, विजय जुगल्याण, महिला मोर्चा की जिला महामंत्री अनिता प्रधान, आरएस रावत, शशि सेमल्टी, हेमलता चौहान, महिला मोर्चा अध्यक्ष निर्मला उनियाल, युवा मोर्चा के मण्डल अध्यक्ष निखिल बर्थवाल, ओबीसी मोर्चा अध्यक्ष प्रताप राणा आदि उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें – युवक को चाकू मारा और बाइक से बांधकर घसीटा, देखें वीडियो

पंजाब सिंध क्षेत्र इंटर कालेज में श्रीराम प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के उपलक्ष्य में विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य ललित किशोर शर्मा ने श्रीराम के जीवन तथा अयोध्या में श्रीराम मंदिर के एतिहासिक महत्व पर परिचय दिया। विद्यालय की शिक्षिका पुनीता बड़थ्वाल ने राम आएंगे भजन प्रस्तुत किया। छात्र-छात्राओं द्वारा अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का प्रस्तुतीकरण किया। इस अवसर पर शिक्षक मदन लाल, चंद्र प्रकाश, पंकज कुमार अग्रवाल आदि उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें – सानिया मिर्जा को छोड़कर शोएब मलिक ने की दूसरी शादी

स्वर्गाश्रम ट्रस्ट के वामन मंदिर में सभी संस्कृत के छात्राओं ने विष्णु सहस्त्र नाम पाठ और सायंकाल भगवन नाम संकीर्तन किया। इस दौरान प्रधानाचार्य विनायक भट्ट ने कहा भगवान विष्णु को इस सृष्टि का संचालक माना गया है। वहीं गुरुवार का दिन भगवान विष्णु की पूजा को समर्पित है। वहीं मान्यता है कि हर गुरुवार को श्री विष्णु सहस्रनाम का पाठ करने से व्यक्ति के जीवन सहज हो जाता है और उसके सभी पापों का नाश होता है। शास्त्रों के अनुसार विष्णु सहस्रनाम का पाठ भगवान विष्णु के एक हजार नामों का संकलन है। इस अवसर पर आचार्य सुरेश भट्ट, गणेश भट्ट, शुभम, सतीश जोशी, चक्रपाणि मैठाणी आदि मौजूद थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar
Verified by MonsterInsights