दून पुलिस की एन्टी ह्यूमन ट्रफिकिंग यूनिट ने भिक्षावृत्ति पर प्रभावी रोकथाम हेतु चलाया Campaign

मौके एण्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट देहरादून की टीम द्वारा भीख मांगने वाली महिलाओं से भीख मांगने का कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि लोग हमें गरीब समझकर कुछ रुपये दे देते हैं । उपरोक्त पांचों महिलाओं को मौके पर हिरासत में लेकर थाना पटेलनगर में उनके विरुद्ध उत्तर प्रदेश भिक्षावृत्ति अधिनियम 1975 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया।

  • भिक्षावृत्ति में लिप्त 05 महिलाओं के विरुद्ध की गई कार्रवाई
  • एण्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट देहरादून

देहरादून। वर्तमान में प्रदेश भर में चलाए जा रहे ऑपरेशन मुक्ति (भिक्षा नहीं शिक्षा दें) अभियान के सफल क्रियान्वयन हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुपालन में एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट देहरादून द्वारा दिनांक 14.03.2024 को आई0एस0बी0टी0 देहरादून के पास 05 महिलाएं मिली, जो आने जाने वाले वाहनों को रोककर भीख मांग रही थी, जिससे आने जाने वालों लोगों को परेशानी हो रही थी तथा यातायात बाधित हो रहा था।

मौके एण्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट देहरादून की टीम द्वारा भीख मांगने वाली महिलाओं से भीख मांगने का कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि लोग हमें गरीब समझकर कुछ रुपये दे देते हैं । उपरोक्त पांचों महिलाओं को मौके पर हिरासत में लेकर थाना पटेलनगर में उनके विरुद्ध उत्तर प्रदेश भिक्षावृत्ति अधिनियम 1975 के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया।

नाम पता अभियुक्ता गण-

1- धनमारू पत्नी आत्माराम पिता का नाम चैतमल निवासी नैनवा कोटा बून्दी राजस्थान हाल- मोथरोवाला चौक देहरादून उम्र 19 वर्ष
2- सुनीता पत्नी नानू पिता का नाम चैतमल निवासी उपरोक्त उम्र 18 वर्ष
3- रेखा पुत्री गिरीराज निवासी नैनवा कोटा बून्दी राजस्थान हाल- कारगी चौक देहरादून उम्र 19 वर्ष
4- बिट्टी पत्नी स्व0 गोविन्द निवासी नयां गांव हरदोई उत्तर प्रदेश उम्र 55 वर्ष
5- अंजली पुत्री गोविन्द निवासी- नया गांव हरदोई उत्तर प्रदेश हाल निवासी- ISBT देहरादून उम्र 22 वर्ष

पुलिस टीम

1- उ0नि0 कल्पना पाण्डेय AHTU देहरादून
2- हे0का0 83 नरेन्द्र सिंह AHTU देहरादून
3- का0 580 सहदेव त्यागी AHTU देहरादून
4- म0का0 167 रैना रावत AHTU देहरादून
5- म0का0 143 प्रेमा बिष्ट AHTU देहरादून


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar
Verified by MonsterInsights