महिला सशक्तिकरण के लिए शक्ति वंदन योजना सबसे कारगर : कमला चुफाल

लोकसभा में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण इसका केवल एक पक्ष बै। महिलाओं को पैतृक संपत्ति पर आरक्षण हो या फिर उनकी समाजार्थिक स्थिति को सुधारने की बात हो, यह सब इस शक्ति वंदन योजना में शामिल है।

पिथौरागढ। जनपद के स्वयंसेवी संस्थाओं, महिला समूहों, महिला फैडरेशनों के एक दिवसीय सम्मेलन में महिला सशक्तिकरण के लिए शक्ति वंदन योजना के क्रियान्वयन को लेकर कई निर्णय लिए गए। भारत सरकार की इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी सामाजिक संगठनों से सहयोग की अपील की गई।

जिला पंचायत सभागार में मुख्य अतिथि पूर्व विधायक चंद्रा प्रकाश पंत और जिला पंचायत अध्यक्ष दीपिका बोहरा की अध्यक्षता में हुई इस संगोष्ठी में डीडीहाट नगरपालिका की पूर्व अध्यक्ष कमला चुफाल ने बतौर मुख्य वक्ता शक्ति वंदन योजना की जानकारी दी। कहा कि महिलाओं को आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक क्षेत्र में सशक्त बनाने के लिए शक्ति वंदन योजना एक कानून का स्वरूप ले चुकी है।

लोकसभा में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण इसका केवल एक पक्ष बै। महिलाओं को पैतृक संपत्ति पर आरक्षण हो या फिर उनकी समाजार्थिक स्थिति को सुधारने की बात हो, यह सब इस शक्ति वंदन योजना में शामिल है। श्रीमती चुफाल ने सभी स्वयं सेवी संगठनों और महिला समूहों से इस योजना को जन जन तक पहुंचाने की अपील की।

पूर्व विधायक श्रीमती चंद्रा प्रकाश पंत, जिला पंचायत अध्यक्ष दीपिका बोहरा, भाजपा नेता ललित पंत, एनजीओ प्रकोष्ठ जिला संयोजक भुवन पांडेय, सह संयोजक लक्ष्मी मेहता, शैलेश खर्कवाल, महिला मोर्चा अध्यक्ष प्रमिला बोरा, मीडिया प्रभारी रघुवर सिंह, सामाजिक कार्यकर्ता जगदीश कलौनी, निर्मला नेहा पांडेय, बासू पाण्डेय आदि ने महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में कार्य करने की आवश्यकता पर बल दिया।

संचालन अभिलाषा समिति के निदेशक डाक्टर किशोर पंत ने किया। इस दौरान विभिन्न क्षेत्र में विशिष्ट कार्य करने वाले 41 लोगों को स्मृतिचिन्ह भेंटकर सम्मानित किया गया।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar
Verified by MonsterInsights