पड़ोसियों ने तोड़ा दरवाजा, जिंदा जल चुका था होमगार्ड | Devbhoomi Samachar

पड़ोसियों ने तोड़ा दरवाजा, जिंदा जल चुका था होमगार्ड

इसमें होमगार्ड जिंदा जलते हुए दिख रहा था। पुलिस ने सभी फोटो और वीडियो को डिलीट कर दिया है। वहीं, भाजपा नेता अंकित चौधरी भी हादसे के बाद पहुंचे और पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। इसके साथ ही घायल राधा को सही उपचार देने के लिए मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. आरसी गुप्ता से बातचीत की।

मेरठ। मेरठ के जयदेवी नगर में शनिवार देर रात तीन बजे होमगार्ड श्रीपाल सिंह के घर में आग लगी। घटना के समय बाहर सन्न्नाटा पसरा था। सुबह करीब चार बजे काॅलोनी के कुछ लोग जा रहे थे। उन्होंने मकान की खिड़की से धुआं निकलते देखा। उन्होंने शोर मचा दिया। इसके बाद आसपास के लोगों ने दरवाजा तोड़ा। अंदर जाकर देखा तो होमगार्ड की मौत हो चुकी थी। लोगों ने पानी डालकर आग पर काबू पाया।

इसे भी पढ़ें – ट्रैवल एजैंट से रंगदारी मांगने के आरोप में भाना सिद्धू गिरफ्तार

कुछ लोगों का आरोप था कि दमकल की टीम देरी से पहुंची। इसके चलते पूरा घर जल गया। सीएफओ संतोष कुमार राय ने बताया कि सुबह चार बजकर सात मिनट पर हमें सूचना मिली। इसके बाद तत्काल पहुंचे और आग पर नियंत्रण किया। होमगार्ड श्रीपाल सिंह की दो बेटी राधा व मनीषा और दो बेटे अविनाश व अमन हैं। राधा और मनीषा की शादी हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें – बिजली चोरी पकड़ने गई टीम पर ग्रामीणों ने किया हमला

अविनाश की भी कुछ समय पहले शादी हुई थी। बेटे अविनाश और अमन सहित अन्य बुरी तरह बिलखते रहे। उनका कहना था कि उनके सिर से पिता का साया उठ गया। हादसे के बाद दमकल के साथ फोरेंसिक टीम पहुंची और छानबीन शुरू की। टीम ने यहां से फटा गैस सिलिंडर, अंगीठी और हीटर को बरामद किया गया। काॅलोनी के रहने वाले कुछ लोगों ने हादसे के दौरान फोटो खींचे और वीडियो बनाए।

इसे भी पढ़ें – डॉक्टर पर किडनी निकालने का आरोप

इसमें होमगार्ड जिंदा जलते हुए दिख रहा था। पुलिस ने सभी फोटो और वीडियो को डिलीट कर दिया है। वहीं, भाजपा नेता अंकित चौधरी भी हादसे के बाद पहुंचे और पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। इसके साथ ही घायल राधा को सही उपचार देने के लिए मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. आरसी गुप्ता से बातचीत की। उन्होंने सीएमओ को फोन कर परिवार के आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए भी कहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar
Verified by MonsterInsights