दीपावली पर ही साफ सफाई क्यों

इस समाचार को सुनें...

सुनील कुमार माथुर

दीपावली दीपो का त्योहार हैं । यह रोशनी की चमक का त्योहार है । यह खुशियों भरा त्योहार हैं । यह अपनेपन का अहसास दिलाता है । अब सवाल यह हैं कि दीपावली पर ही साफ सफाई क्यों की जाती है । अन्य त्योहरों पर क्यों नहीं ।

दीपावली के आते – आते साल भर में कई तीज त्योहार आते हैं और मौसम भी बदलते रहते है । बरसात कि वजह से घरों में सीलन आ जाती है । कीड़े-मकोड़े हो जाते हैं । मकडी के जाले हो जाते हैं सीलन से घर में एक अजीब सी महक आने लगती है इसी के साथ हल्की – हल्की सर्दी आरम्भ हो जाती हैं अत: रजाई , बिस्तर व गर्म कपड़े धूप में दियें जाते है ताकि उनमें लगी सीलन दूर हो ।

दीवारों पर आई सीलन को हटाकर पुनः नया रंग रोगन , सफाई , पोताई की जाती है ताकि कीड़े-मकोड़े खत्म हो । सीलन दूर हो । आंधी के कारण दीवारों पर जमा धूल दूर हो । घर – परिवार में एक नयापन आयें । साल भर पुरानी सजावट में बदलाव आयें । लक्ष्मी के आगमन के उत्साह में हम सभी कुछ नया करने लग जाते हैं । इससे घर की रोनक भी बढ जाती हैं ।

इतना ही नहीं दीपावली पर बच्चों को छुट्टियां होती है जिसके कारण सफाई के कार्य में मदद मिल जाती है और इस वजह से एक तरह से नई ऊर्जा , उमंग और उत्साह बढ जाता हैं और साफ सफाई आसानी से हो जाती हैं । वैसे भी हमारी भारतीय महिलाएं हर रोज साफ सफाई करती ही रहती है जिसके कारण घरों में अधिक गंदगी और कूडा करकट जमा नहीं हो पाता है व चर मे सजावट का नयापन मन को हर्षित करता हैं । सफाई से मच्छरों का भी सफाया हो जाता हैं ।

13 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar