अकेले लडूंगा, पर नहीं करूंगा समझौता

इस समाचार को सुनें...

अकेले लडूंगा, पर नहीं करूंगा समझौता, अनुसूचित जाति के युवक की पिटाई प्रकरण में पीड़ित युवक के बयान दर्ज नहीं होने के कारण पुलिस जांच की रफ्तार धीमी पड़ गई है। पुलिस का कहना है कि युवक…

उत्तरकाशी/पुरोला। सालरा गांव में अनुसूचित जाति के युवक के साथ हुई मारपीट मामले में पीड़ित युवक के पिता ने समझौते का प्रस्ताव ठुकरा दिया है। पीड़ित युवक के पिता ने बताया कि स्थानीय विधायक सहित कई लोग उनके पास समझौते का प्रस्ताव लेकर आए थे। वहीं स्थानीय विधायक ने कहा कि बाहर के लोग हमारी रवाई घाटी के सौहार्द को बिगाड़ने का प्रयास कर रहे हैं। ये लोग मामले में और अधिक आग लगा रहे हैं।

विधायक ने कहा कि मामले में सुलह कराने का प्रयास किया जा रहा है। मामला जल्द सुलझा दिया जाएगा। सालरा गांव में अनुसूचित जाति के युवक के साथ मारपीट प्रकरण में बुधवार को बैठकों का दौर चला। पहले करीब तीन बजे शाम को जीआईसी मोरी में विधायक दुर्गेश्वर लाल की मौजूदगी में बैठक आयोजित की गई। लेकिन उक्त बैठक में पीड़ित युवक आयुष के पिता अतर लाल नहीं पहुंचे। जिस पर बैठक के बाद विधायक दुर्गेश्वर लाल सहित क्षेत्र के कुछ गणमान्य व्यक्ति बैनोल गांव पहुंचे।

यहां इन्होंने पीड़ित आयुष के घर पर उसके पिता अतर लाल के साथ बैठक की। वहीं अतर लाल ने कहा कि विधायक सहित अन्य लोगों ने उसके समक्ष मामले में समझौते का प्रस्ताव रखा। अतर लाल ने बताया कि उन्होंने समझौते का प्रस्ताव ठुकरा दिया। कहा कि वह अकेले ही अपने बेटे के लिए न्याय की लड़ाई लड़ेेंगे पर समझौता नहीं करेंगे।

विधायक दुर्गेश्वर लाल ने बताया कि वह दोनों पक्षों के साथ बैठक कर क्षेत्र में सौर्हाद पूर्ण माहौल बनाने का प्रयास कर रहे हैं। विधायक दुर्गेश्वर ने कहा कि कुछ बाहर के लोग रवांई घाटी के माहौल को खराब करने का प्रयास कर रहे हैं। इस प्रकरण में कमान बाहर के लोगों के हाथ में है, जो मामले में और अधिक आग लगाने का प्रयास कर रहे हैं। क्षेत्र में आपसी सौहार्द न बिगड़े, क्षेत्र में नारेबाजी, झगड़ा, विरोध प्रदर्शन न हों इसके लिए दोनों पक्षों से सुलह कराने का प्रयास किया जा रहा है। विधायक दुर्गेश्वर ने कहा कि कानून अपना कार्य कर रहा है।

अनुसूचित जाति के युवक की पिटाई प्रकरण में पीड़ित युवक के बयान दर्ज नहीं होने के कारण पुलिस जांच की रफ्तार धीमी पड़ गई है। पुलिस का कहना है कि युवक के बयान दर्ज किए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं। युवक अभी दून अस्पताल में है। बताया जा रहा है कि युवक बयान देने की स्थिति में नहीं है। जल्द बयान दर्ज न होने पर पुलिस का आरोप पत्र तैयार करने में भी दिक्कतें आ रही है।

मोरी क्षेत्र के सालरा गांव में मंदिर में प्रवेश करने पर अनुसूचित जाति के युवक की पिटाई का प्रकरण सामने आया था। इस संबंध में पीड़ित युवक ने क्षेत्र के पांच सवर्ण युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट के आदेश पर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में टिहरी जेल भेज दिया था। एसपी अर्पण यदुवंशी का कहना है कि पीड़ित युवक उपचार के लिए दून अस्पताल में भर्ती है। बताया जा रहा है कि युवक बयान देने की स्थिति में नहीं है। इससे युवक के बयान दर्ज नहीं हो पाए हैं।

मुंबई पुलिस ने राखी सावंत को हिरासत में लिया


👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

अकेले लडूंगा, पर नहीं करूंगा समझौता, अनुसूचित जाति के युवक की पिटाई प्रकरण में पीड़ित युवक के बयान दर्ज नहीं होने के कारण पुलिस जांच की रफ्तार धीमी पड़ गई है। पुलिस का कहना है कि युवक...

खौफनाक मंजर : क्लास रूम में लटकी मिली प्रिंसिपल की लाश

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar