हरिद्वार : ट्यूशन नहीं जाना था, रची किडनैपिंग की कहानी, पुलिस परेशान

इस समाचार को सुनें...

हरिद्वार : ट्यूशन नहीं जाना था, रची किडनैपिंग की कहानी, पुलिस परेशान, इधर, बच्चा बार-बार अपनी कहानी बदल रहा था। पुलिस को उसकी कहानी पर शक हो गया। फिर बच्चे ने जो सच्चाई बताई उसे सुन सब हैरान रह गए।

हरिद्वार। ट्यूशन जाने से बचने के लिए पांचवी कक्षा के छात्र ने अपनी किडनैपिंग की झूठी कहानी रच डाली। जानकारी मिलने के बाद इलाके में हंगामा मच गया। पुलिस ने दर्जनों सीसीटीवी फुटेज खंगाल डाले। फिर बच्चे के बार-बार बदलते बयान से सच्चाई सामने आई। तब जाकर पुलिस किडनैपिंग की कहानी झूठी होने बात सामने आई। फिलहाल, पुलिस ने बच्चे को समझाइश दे दी है। घटना उत्तराखंड के हरिद्वार में शुक्रवार को हुई थी।

दरअसल, शहर के पीठ बाजार में रहने वाले व्यक्ति का 11 साल पांचवीं में पढ़ने वाला बेटा पीठ बाजार में ही कोचिंग पढ़ने जाता था। संगीता टॉकीज के पास हर रोज वह साइकिल से ट्यूशन पढ़ने के लिए निकलता था। शुक्रवार शाम को भी बच्चा साइकिल से कोचिंग पढ़ने के लिए घर से निकला था, लेकिन ट्यूशन नहीं पहुंचा। बच्चा ट्यूशन नहीं पहुंचा तो टीचर ने परिवार से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि वह तो घर से साइकिल से ट्यूशन के लिए निकला था।

इधर, परिवार के लोग बच्चे को लेकर परेशान हो गए। फिर कुछ घंटे बाद बच्चा घर पहुंच गया। उसने अपने परिवार को बताया कि मेरी किडनैपिंग हुई थी। बच्चे की बात सुनकर परिवार के होश उड़ गए। तुरंत ही घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस उनके घर पहुंची और बच्चे से पूरा जानकारी ली। बच्चे ने पुलिस को बताया, 4 लोगों ने मेरा रास्ता रोक लिया था, सभी दो बाइक पर सवार थे, दो लोगों ने मुझे पकड़कर जबरदस्ती अपनी बाइक पर बिठा लिया था।

बच्चे ने आगे बताया, दूसरी बाइक का एक युवक उसकी साइकिल लेकर चला गया, चौथा युवक दूसरी बाइक से उनके पीछे आने लगा। लोधमण्डी में वह किडनैपर के चंगुल से किसी तरह निकलकर घर आ गया। बच्चे की बताई कहानी पर पुलिस ने अपनी टीमें एक्टिव कर दीं। ट्यूशन आने-जाने के रास्ते में मौजूद दर्जनों सीसीटीवी को चौक किया गया। घंटों की मेहनत के बाद भी पुलिस को किडनैपिंग जैसा कुछ नजर नहीं आया।

इधर, बच्चा बार-बार अपनी कहानी बदल रहा था। पुलिस को उसकी कहानी पर शक हो गया। फिर बच्चे ने जो सच्चाई बताई उसे सुन सब हैरान रह गए। जब पुलिस ने थोड़ी सख्ती दिखाते हुए बच्चे से पूछताछ की उसने सच्चाई बता दी। बच्चे ने पुलिस से कहा कि वह ट्यूशन जाने से छुटकारा पाना चाहता था और परिजनों की डांट से भी नाराज था। इसलिए उसने खुद की किडनैपिंग की झूठी कहानी रची थी। उसने सोचा कि किडनैपिंग की बात सुनकर सब घबरा जाएंगे और उसे ट्यूशन नहीं जाना पड़ेगा।

शाबाश श्रेष्ठता माथुर शाबाश


👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

हरिद्वार : ट्यूशन नहीं जाना था, रची किडनैपिंग की कहानी, पुलिस परेशान, इधर, बच्चा बार-बार अपनी कहानी बदल रहा था। पुलिस को उसकी कहानी पर शक हो गया। फिर बच्चे ने जो सच्चाई बताई उसे सुन सब हैरान रह गए।

हैवानियत : खाने में बाल निकला और पत्नी को किया गंजा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar