केबीसी में जोधपुर की जनता ने डंका बजाया

इस समाचार को सुनें...

सुनील कुमार माथुर

जोधपुर में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है । यहां हर घर – परिवार में प्रतिभाएं छिपी पडी हैं । बस जरूरत है तो उन्हें प्रोत्साहन देने की ताकि वे अपना हुनर दिखा कर समाज को एक नई दशा व दिशा प्रदान कर सकें । प्रतिभावान बनने के लिए व्यक्ति को हमेशा सकारात्मक सोचना चाहिए और असफलताओं से घबराना नहीं चाहिए अपितु और अधिक आत्मविश्वास के साथ आगें बढना चाहिए ।



अगर जीवन में असफलता नहीं आयेगी तो हम नई राह कैसे ढूंढ पायेंगे । हमारे बडे बुजुर्गों का कहना हैं कि असफलता ही हमें सफलता की मंजिल तक पहुंचने में मददगार सिध्द होती हैं चूंकि ठोकर खाया व्यक्ति हमेशा सोच समझ कर कार्य करता हैं और फिर जीवन में हमेशा सफलता ही प्राप्त करता रहता हैं । कहने का तात्पर्य यह है कि मेहनत करने वालों की कभी भी हार नहीं होती है ।

सूर्यनगरी जोधपुर के निवासी प्रताप सिंह भाटी ने सोमवार 11 अक्टूबर 2021 को केबीसी में हाॅट सीट पर जानी मानी फिल्म हस्ती अमिताभ बच्चन के सामने बैठकर जिस तरह से धैर्य व आत्मविश्वास के साथ अमिताभ बच्चन के ध्दारा पूछे गये सवालों का जवाब दिया वह काबिले तारीफ हैं । प्रताप सिंह भाटी ने यह साबित कर दिया कि अगर आप में आत्मविश्वास हैं तो घबराने की कोई जरूरत नहीं है और खेल ही खेल में भाटी ने छः लाख चालीस हजार रूपये जीत गये ।

भाटी ने 11 सवालों के जवाब तो चार लाईफ लाइनों की मदद से जीत गये और 12 वे सवाल पर आकर अटक गयें । इस वक्त उनके पास कोई भी लाईफ लाइन नहीं थी । अतः उन्होंने क्यूक किया । लेकिन अमिताभ बच्चन ने उनसे पूछा कि अगर आप उतर देते तो आपके हिसाब से सही उतर क्या हैं । भाटी का उतर सही निकला । अगर वे क्यूक न करके अपना उतर दे देते तो आगें और खेल लेते और यह राशि 12 लाख 80 हजार रूपये हो जाती या इससे भी अधिक ।



खैर भाटी ने सभी प्रश्नों के उतर बडे ही सहज ढंग से दिये और बहुत ही सूझबूझ के साथ सवालों का जवाब दिया । साथ ही साथ यह भी साबित कर दिया कि व्यक्ति को हमेशा सकारात्मक सोचना चाहिए और आगे बढना चाहिए । अमिताभ बच्चन ने भाटी के खेलने के तरीके को अद् भूत बताया और उम्मीद की कि प्रताप सिंह भाटी इस जीती हुई राशि से अपनी जरूरतों को पूरा करने के साथ ही साथ कुछ राशि का निवेश भी करेंगे ताकि यह राशि भविष्य में बच्चों के काम आयें । कार्यक्रम में भाटी के साथ उनकी पत्नी भी साथ में थी जो वहां दर्शक दीर्घा में बैठी थी ।

प्रताप सिंह भाटी से पूर्व रेलवे अस्पताल में कार्यरत नर्स सुनीता भाटी ने केबीसी मे अपना डंका बजाया और शानदार तरीके से पूछे गयें सवालों का जवाब दिया । सुनीता ने केबीसी शो में सम्मिलित होने के लिए पिछले 21 सालों से प्रयास कर रही थी । इससे पूर्व भी जोधपुर की जनता ने केबीसी मे जाकर जोधपुर का डंका बजा चुके हैं ।

11 अक्टूबर को अमिताभ बच्चन का जन्म दिन भी था और उन्हें जन्म दिन की बधाइयां देने वालों का तांता सा लग गया और बहुत ही सुन्दर ढंग से बधाइयां दी गयी । कहते हैं कि जोधपुर की जनता हर कठिन दौर को आसान कर देती हैं चूंकि उनमें आत्मविश्वास भरपूर मात्रा में होता हैं । वे मुसीबतों को हंसते हुए टाल देते हैं । तभी तो वे सहजता के साथ , नई दशा व दिशा व हौसले के साथ आगे बढ जाते हैं और फिर पीछे मुडकर नहीं देखते हैं ।

10 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!