लघुकथा : महान कार्य

इस समाचार को सुनें...

मुकेश कुमार ऋषि वर्मा

मंत्री जी के स्वागत-सम्मान व उन्हें प्रसन्न करने के लिए कार्यक्रम आयोजकों ने तमाम तामझाम किए थे । हजारों लोगों को बुलाया, उनके खाने-पीने के लिए व्यवस्थाएं की गईं । कुंतलों कूड़ा कचरा उत्पन्न हुआ । चारों ओर प्लास्टिक के दोना, पत्तल, गिलास, बोतलें बिखरे पड़े थे ।

मंत्री जी आये और आते ही उन्होंने स्वच्छता पर भाषण देना शुरू कर दिया – ‘साथियों ! महात्मा गांधी का कहना था कि आजादी से भी ज्यादा जरूरी है स्वच्छता । स्वच्छता से हम स्वयं बचेंगे और हमारा पर्यावरण भी बचेगा । स्वच्छता से गांवों व शहरों को आदर्श बनाया जा सकता है । आप लोगों को पता होना चाहिए गंदगी से बीमारियां फैलती हैं । हमें प्लास्टिक इस्तेमाल नहीं करनी चाहिए ।’

मंत्री जी माथे का पसीना पोंछते हुए एक बोतल पानी गटक गए ।

मंत्री जी अपना लम्बा-चौड़ा भाषण झाड़कर उड़न खटोले से हवा हवाई हो गये । और अपने पीछे छोड़ गये स्वच्छता का महान कार्य… जिसे नगर निगम के सफाई कर्मी लगातार कई दिनों से निपटाने की कोशिश कर रहे हैं।


¤  प्रकाशन परिचय  ¤

Devbhoomi
From »

मुकेश कुमार ऋषि वर्मा

लेखक एवं कवि

Address »
ग्राम रिहावली, डाकघर तारौली गुर्जर, फतेहाबाद, आगरा, (उत्तर प्रदेश) | मो : 9876777233

Publisher »
देवभूमि समाचार, देहरादून (उत्तराखण्ड)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!