जनता व प्रशासन को सराहनीय कार्य के लिए सलाम

इस समाचार को सुनें...

सुनील कुमार माथुर

जोधपुर के इतिहास में 26 सितम्बर ( रविवार ) 2021 का दिन स्वर्ण अक्षरों में लिखा जायेंगा चूंकि राजस्थान मे रीट परीक्षा – 2021 की परीक्षा इस दिन हुई । बडी संख्या में अभ्यर्थी जोधपुर परीक्षा देने आयें । सरकार ने परीक्षा देने वाले विधार्थियों के लिए निःशुल्क बसों से आने – जाने की व्यवस्था कर दी । ऐसे समय में बाहरी लोगों का बडी संख्या में एक ही दिन में आने की सूचना से समूचा प्रशासन तंत्र के लिए कानून व व्यवस्था बनायें रखना एक चुनौती पूर्ण कार्य बन गया ।

ऐसे समय में जोधपुर की जनता ने अपणायत का परिचय दिया और हर समाज के लोगों ने बाहर से आने वाले विधार्थियों के लिए ठहरने , खाने – पीने व नाश्ते की निः शुल्क व्यवस्था कर प्रशासन के कार्य व चिंता को काफी हद तक बोझ मुक्त कर दिया जो सराहनीय व वंदनीय है जिसके लिए सभी समाज के लोग व भामाशाह साधुवाद व धन्यवाद के पात्र हैं ।

प्रशासनिक कार्यों को सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने वाले जिम्मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों ने रात – दिन अपने पैरों पर खडे रहकर जो व्यवस्था को संभाले रखा उसके लिए वे सभी साधुवाद के पात्र है । चूंकि जोधपुर के इतिहास की ही नहीं अपितु समूचे राजस्थान के इतिहास में यह सबसे बडी परीक्षा थी जिसे जोधपुर के प्रशासन ने शांति पूर्वक संपन्न कराकर एक इतिहास का नया पन्ना लिख डाला जो जोधपुर के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जायेगा ।

जोधपुर की जनता-जनार्दन भी धन्यवाद एवं साधुवाद की पात्र है जिसने प्रशासन की अपील पर अनावश्यक रूप से घर से बाहर न निकले व अपने-अपने घरों में ही रहें । इस परीक्षा से जुङे सभी अधिकारी व कर्मचारी धन्यवाद के पात्र हैं । सरकार को चाहिए कि वह इसे गंभीरता से ले व जब भी विधार्थियों की संख्या बडी तादाद में हो तो परीक्षा को विभिन्न चरणों में कराई जानी चाहिए ताकि प्रशासन पर अनावश्यक जरूरत से ज्यादा भार न पडें और वह सामान्य रूप से अपनी-अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभा सकें ।

12 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!