बालिकाओं का खान-पान पर ध्यान नहीं, हो रही हैं एनीमिया से ग्रसित

इस समाचार को सुनें...

अल्मोड़ा। जनपद में विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत् स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ एक बैठक जिलाधिकारी वन्दना सिंह की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट में सम्पन्न हुई। जिलाधिकारी ने सभी स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों से परिचय प्राप्त करते हुए उनके द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवी संस्थाओं का जिला प्रशासन को विभिन्न कार्यों हेतु समन्वय की आवश्यकता है जिससे उनका सहयोग लिया जा सके।

जिलाधिकारी ने कहा कि वर्तमान में कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर की आशंका जतायी जा रही है लेकिन कई लोग कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन नहीं कर रहे है। इसके साथ-साथ कोविड-19 से बचाव हेतु कराये जा रहे टीकाकरण के लिए भी कई लोग टीका नहीं लगवा रहे है। इस हेतु उन्होंने स्वास्थ्य के क्षेत्र में कार्य करने वाले सामाजिक संस्थाआंे से इस कार्य में लोगो को जागरूक करने हेतु सहयोग की अपेक्षा की। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद के ऐसे क्षेत्रों का चिन्हीकरण किया जाय जहा पर पानी की किल्लत लगातार बनी रहती है।

जिलाधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन से भी जो सहयोग सामाजिक संस्थाओं को चाहिए उसे भी पूरा करने का प्रयास किया जायेगा।

ऐसे क्षेत्रों में स्वयंसेवी संस्थायें वहॉ पर स्थित जलस्रोतों के सवर्द्धन हेतु प्रस्ताव जिला प्रशासन को दें जिससे उस क्षेत्र में कार्य किया जा सके। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद पर्यटन नगरी होने के नाते यहॉ पर पर्यटकों का आवागमन लगातार रहता है। कई स्थानों सफाई व्यवस्था ठीक न होने से पर्यटकों में एक नकारात्मक संदेश जाता है। इस हेतु उन्होंने स्वच्छता के क्षेत्र में कार्य कर रही संस्थाओं को नगर निकायों के साथ-साथ ग्राम सभाओं में भी कार्य करने हेतु अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि ऐसे मॉडल विलेज तैयार किये जाय जहा पर गॉवों ही कूड़े के निस्तारण की व्यवस्था हो सके ताकि अन्य गॉव भी इससे सीख लें।

जिलाधिकारी ने कहा कि प्रायः देखने में आता है कि किशोरी बालिकायें अपने खान-पान पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाती है जिससे वे एनीमिया से ग्रसित हो जाती है इसके लिए उन्होंने महिला स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम कर रहे संस्थाओं को इस ओर कार्य करने के लिए आग्रह किया और कहा कि वे विभन्न विद्यालयों में जाकर ऐसी बालिकाओं की जॉच में सहयोग व जो एनीमिया से ग्रसित बालिकायें है उनका सही पोषण व खान-पान और किसी को ईलाज की आवश्यकता हो तो उसे भी चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर ईलाज की व्यवस्था करने को कहा। बैठक में कई संस्थाओं के पदाधिकारियों द्वारा अपने-अपने सुझाव विभिन्न क्षेत्रों हेतु दिये और प्रशासन के सहयोग के लिए तत्पर रहने की बात कही। बैठक में विभागीय अधिकारियों के अलावा स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

जिलाधिकारी ने सभी स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों से परिचय प्राप्त करते हुए उनके द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी प्राप्त की।

from जिला सूचना अधिकारी, अल्मोड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!