देवकीनंदन महाराज को जिंदा जलाने की धमकी, देखें वीडियो

इस समाचार को सुनें...

देवकीनंदन महाराज को जिंदा जलाने की धमकी, देखें वीडियो… अश्लील गालियां देने लगा। महाराज के विरोध करने पर उन्हें बम से उड़ाने और चौक पर जिंदा जलाने की धमकी दी गई। डेढ़ मिनट के कॉल का उनके साथी ने वीडियो रिकॉर्ड कर लिया। इसकी जानकारी ट्विटर के माध्यम से स्थानीय पुलिस…

वृंदावन (मथुरा)। भागवत कथा वाचक और वृंदावन में ठाकुर श्री प्रियाकान्त जू मंदिर के संस्थापक देवकीनंदन महाराज को बम से उड़ाने की धमकी मिली है। सउदी अरब के एक कॉलर ने मोबाइल कॉल पर अश्लील गालियां देते हुए हिंदू धर्मगुरु को चौक पर जिंदा जलाने की धमकी दी। देवकीनंदन महाराज इस समय खारघर मुंबई में श्रीमद्भागवत कथा का वाचन कर रहे हैं। जानलेवा धमकी पर महाराष्ट्र पुलिस ने संज्ञान लेकर एनसीआर दर्ज की है। वहीं, कथा पंडाल में भी कड़ी सुरक्षा कर दी गई है। धर्मगुरु की सुरक्षा को लेकर उनके परिवार और शिष्यों में चिंता पसर गई है।

दरअसल, शनिवार दोपहर देवकीनंदन ठाकुरजी महाराज के पर्सनल मोबाइल नंबर पर मुस्लिम देश सउदी अरब से कॉल आया, जिसे रिसीव करने पर फोन करने वाले शख्स ने ठाकुर पर मुसलमानों के खिलाफ बोलने का आरोप लगाया और फिर वह अश्लील गालियां देने लगा। महाराज के विरोध करने पर उन्हें बम से उड़ाने और चौक पर जिंदा जलाने की धमकी दी गई। डेढ़ मिनट के कॉल का उनके साथी ने वीडियो रिकॉर्ड कर लिया। इसकी जानकारी ट्विटर के माध्यम से स्थानीय पुलिस के साथ ही प्रधानमंत्री कार्यालय, गृहमंत्रालय और महाराष्ट्र समेत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को शेयर की गई।

प्रियाकान्तजु मंदिर सचिव विजय शर्मा ने बताया, महाराष्ट्र पुलिस ने इसका संज्ञान लेते हुए कथा पंडाल को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया है। संस्था की ओर से इस सबंध में 298, 504, 506, 507 धाराओं के तहत एक एन।सी।आर खारघर थाने में दर्ज कराई गई है। इससे पहले भी अप्रैल में मुंबई के वासिम में हनुमान जयंती पर रामभक्तों के साथ शोभायात्रा निकालने पर भी उन्हें दुबई से जान से मार देने की धमकी भरा फोन आया था।

विजय शर्मा ने फोन पर बताया कि देवकीनंदन महाराज सनातन धर्म के लिए मुखर होकर बोलते हैं। न्यूज चैनल पर बहस और उनकी कथा के कई वीडियो वायरल होते रहे हैं। पिछले दिनों आफताब-श्रद्धा मामले में भी वे लव जिहाद पर हिंदू समाज को जाग्रत करते हुए प्रमुखता से बोले थे। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व पर बोलने पर पहले भी ऐसे कई कॉल-मैसेज संस्था के नंबरों पर आ चुके हैं, लेकिन इस बार सीधे देवकीनंदन महाराज के ही नंबर पर धमकी दी गई है।

उनका नंबर बहुत ही गिने-चुने लोगों के पास है। इस बात को लेकर परिवार और उनके शिष्यों में सुरक्षा को लेकर चिंता व्याप्त है। शिष्य लगातार उनकी सुरक्षा की मांग कर रहे हैं। इस संबंध में एक वीडियो जारी कर देवकीनंदन महाराज ने कहा, हम किसी भी जाति या धर्म के विरोध में नहीं बोलते हैं। लेकिन सनातन धर्म और हिंदुत्व संस्कृति के प्रचार-प्रसार से पीछे नहीं हटेंगे। हम किसी को मिटाने के लिए बल्कि अपने संस्कारों को बचाने और बढ़ाने के लिए कार्य कर रहे हैं।

उन्होने केन्द्रीय गृहमंत्री और यूपी-महाराष्ट्र की सरकार से इसका संज्ञान लेने का अनुरोध करते हुए कहा कि सनातन की आवाज रुकनी नहीं चाहिए। संस्था मीडिया प्रभारी जगदीश वर्मा ने बताया कि इस समय देवकीनंदन महाराज की नवी मुंबई के खारघर में 24 से 31 दिसंबर तक श्रीमद्भागवत कथा चल रही है। इससे पहले मुंबई के कांदिवली में शिवमहारापुराण कथा संपन्न हुई थी।

नीचे देखें वीडियो 01…

 

हिंदुत्व की प्रखर आवाज बने देवकीनंदन महाराज को इससे पहले भी कई बार जान से मारने और टुकड़े-टुकड़े करने की धमकियां मिल चुकी हैं। जिसमें प्रियाकान्तजू मंदिर पर किसी मुस्लिम संगठन के नाम से पत्र मिला था। इसमें हिंदुत्व के प्रचार पर सामूहिक नरसंहार की चेतावनी लिखकर भेजी गई थी। वृन्दावन कोतवाली में भी इस सबंध में मामले दर्ज हैं। इसके अतिरिक्त कथा के लिए दिल्ली जाते समय उनकी गाड़ी को रोककर हमले की कोशिश भी हो चुकी है।

नीचे देखें वीडियो 02…

अनोखा चिड़ियाघर : इंसान पिंजरे में कैद और बाहर घूमते हैं जानवर


👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

देवकीनंदन महाराज को जिंदा जलाने की धमकी, देखें वीडियो... अश्लील गालियां देने लगा। महाराज के विरोध करने पर उन्हें बम से उड़ाने और चौक पर जिंदा जलाने की धमकी दी गई। डेढ़ मिनट के कॉल का उनके साथी ने वीडियो रिकॉर्ड कर लिया। इसकी जानकारी ट्विटर के माध्यम से स्थानीय पुलिस...

बंदर की हत्या, अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar