मधुमक्खी पालन और मशरूम उत्पादन से दूर होगी बेरोजगारी, देखें वीडियो

इस समाचार को सुनें...

अर्जुन केशरी

बाराचट्टी। पीएनबी ग्रामीण स्वरोजगार शिक्षण संस्थान के द्वारा गया जिला के बाराचट्टी प्रखंड के विभिन्न क्षेत्रों में लोगों को मशरूम उत्पादन, जैविक खाद निर्माण आदि का दिया जा रहा है प्रशिक्षण। मौके पर मौजूद नाबार्ड के डीडीएम उदय कुमार ने बताया कि आर से टी के निदेशक पीएनबी कुरमा वाँ के मैनेजर तथा नाबार्ड के सहयोग से ग्रामीण उत्थान करने हेतु बेरोजगार व्यक्तियों को मशरूम उत्पादन के लिए प्रेरित किया जा रहा है ताकि भ्रष्टाचारी कम हो सके।

देखें वीडियो…

वहीं मौके पर मौजूद कुरमा वा के मैनेजर श्यामसुंदर सिन्हा ने बताया कि अगर कोई भी बेरोजगार व्यक्ति प्रशिक्षण लेने चाहते हैं तो वे आर से टी से रजिस्ट्रेशन कराए और उसे पूर्ण रूप से सहयोग मिलेगी। वहीं इस कार्यक्रम में शामिल पंजाब नेशनल बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान गया के निदेशक सुनील कुमार ने बताया कि इस संस्थान का उद्देश्य है कि लोग प्रशिक्षण कर स्वरोजगार करें तथा आत्म निर्भर बने उन्होंने यह भी बताया कि जिला के विभिन्न क्षेत्रों को अलग अलग कार्य के लिए आईडेंटिफाई किए हैं।

प्रशिक्षण कराकर आत्मनिर्भर बनाने का काम…

जिसमें बकरी पालन, मशरूम उत्पादन, मधुमक्खी पालन आदि मुख्य है। इस कार्य को बाराचट्टी क्षेत्र में आगे बढ़ाने का अथक प्रयास रोही निवासी पुरुषोत्तम राम जी कर रहे हैं। उनका सोच है कि बिना खेती बारी वाले भी इस से जुड़कर आत्मनिर्भर बनें। लगभग दो सालों में 350 लोगों प्रशिक्षण कराकर आत्मनिर्भर बनाने का काम किए हैं।

175 प्रशिक्षण किए गए लोगों को सर्टिफिकेट भी बाटा गया और शपथ दिलाया गया। वहीं पत्रकारों से बातचीत के क्रम में प्रशिक्षण लेकर कार्य कर रहे ग्रामीणों ने बताया कि हमें बेहद खुशी हो रही है मशरूम उत्पादन करने में क्योंकि उत्पादन कर पास ही शोभ की मंडी में बेचकर काफी रकम अर्जित कर लेते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!