वर्दी उतारकर नंगा हुआ पुलिसकर्मी

वीडियो पहुंचा SP के पास, किया सस्पेंड

इस समाचार को सुनें...

वर्दी उतारकर नंगा हुआ पुलिसकर्मी, एसपी ने यह भी बताया कि दो साल पहले इस पुलिसकर्मी का एक्सीडेंट हो गया था। इस कारण वह अपना मानसिक संतुलन खो बैठा था। हो सकता है कि एसपी साहब अपने महकमे की इज्जत बचाने …

हरदा। मध्य प्रदेश के हरदा जिले में एक शराबी पुलिसकर्मी का वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें देखा गया कि पुलिसकर्मी रेलवे स्टेशन के बाहर अपनी वर्दी को उतारकर फेंक रहा है। हरदा एसपी मनीष अग्रवाल ने वीडियो वायरल होने के बाद आरक्षक को सस्पेंड कर दिया है। जानकारी के मुताबिक, शराब के नशे में धुत पुलिसकर्मी हरदा पुलिस लाइन में पदस्थ है। हरदा रेलवे स्टेशन के बाहर नशे में होने के कारण आरक्षक कभी जमीन पर लौट रहा तो कभी बेंच पर लटक रहा था।

इसी दौरान एक युवक के साथ उसकी बहस भी हुई। जिसके बाद पुलिसकर्मी ने अपनी वर्दी उसी के सामने उतारकर फेंक दी। इस दौरान किसी ने पुलिसकर्मी का वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। जब यह पूरा मामला एसपी मनीष कुमार अग्रवाल के संज्ञान में आया तो उन्होंने उक्त पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया। वहीं एसपी ने यह भी बताया कि दो साल पहले इस पुलिसकर्मी का एक्सीडेंट हो गया था। जिसमें उसके सिर पर गहरी चोट आई थी। इस कारण वह अपना मानसिक संतुलन खो बैठा था।

उसकी काउंसलिंग भी की गई लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा। जानकारी के मुताबिक, उपचार के दौरान पुलिस वेलफेयर सोसाइटी से उसको (आरक्षक को) आर्थिक मदद की गई। हरदा एसपी अग्रवाल ने मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए आरक्षक को पुलिस लाइन पदस्थ किया, जहां उसको ज्यादा काम न करना पड़े। कभी कभार नोटिस तामील करने या डाक के लिए भेजा जाता था। शुक्रवार को भी उसे पुलिस लाइन से टिमरनी कोर्ट पेशी की तारीख बढ़ाने के लिए भेजा, लेकिन वह कोर्ट नहीं पहुंचा और शाम को हरदा रेलवे स्टेशन पर शाम 5 बजे हंगामा करता रहा। कुछ देर में भी वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने उसका मेडिकल करवाया, जिसमें शराब पीने की पुष्टि हुई।

एसपी ने बताया कि पुलिसकर्मी के परिवार में उसकी पत्नी और दो छोटे-छोटे बच्चे हैं। फिलहाल उसे सस्पेंड कर दिया गया है। आगे की जांच जारी है। एसपी साहब की बात से दो बातें सामने आती हैं, जिससे अनेक संभावनाओं का जन्म होता है। यदि दो साल पूर्व चोट लगने के बाद वह पुलिसकर्मी मानसिक संतुलन खो बैठा था, तो पुलिस में क्या कर रहा है। यदि वह मानसिक संतुलन खोने के बाद किसी को गोली मार दे अथवा पुलिस की वर्दी पहनकर कुछ और अराजक कृत्य कर देता है तो उसकी जिम्मेदारी कौन उठायेगा।

दूसरी तरफ, यह भी हो सकता है कि एसपी साहब अपने महकमे की इज्जत बचाने की कोशिश कर रहे हों। जिसके फलस्वरूप उनके द्वारा पुलिसकर्मी को मानिसक संतुलन खोने की बीमारी से ग्रसित कर दिया गया हो। बहरहाल, जब दो साल पूर्व चोट लगने के बाद मानसिक संतुलन की जांच अब तक नहीं हो पाई है तो आगे की जांच क्या खाक होगी।

चुनावी रंजिश : बीजेपी नेता के भतीजे को गाड़ी से रौंदा, मौके पर मौत


👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

वर्दी उतारकर नंगा हुआ पुलिसकर्मी, एसपी ने यह भी बताया कि दो साल पहले इस पुलिसकर्मी का एक्सीडेंट हो गया था। इस कारण वह अपना मानसिक संतुलन खो बैठा था। हो सकता है कि एसपी साहब अपने महकमे की इज्जत बचाने ...

गलत ट्रेन में चढ़ी महिला, कूदना पड़ा चलती ट्रेन से

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar