खुलासा : 3 फीट के कमरे में ठूंस रखी थीं 17 लड़कियां

दीवारों पर लगे शीशे के पीछे बना रखा था गुप्त दरवाजा... सीक्रेट तहखाने का नजारा दख दंग रह गई पुलिस... पुलिस के आते ही गायब हो जाती थीं लड़कियां...

इस समाचार को सुनें...

मुंबई (महाराष्ट्र)। मुंबई पुलिस ने अंधेरी इलाके की फेमस दीपा बार में जब रेड डाली तो कई चौंकाने वाले खुलासे हुए। छापेमारी के दौरान बार में दीवार के अंदर एक अंडरग्राउंड तहखाने के बारे में पता चला।

जिसमें 17 लड़कियों को ठूस कर छिपाया गया था। पकड़ी गईं सभी लड़िकयां बार-बलाएं बताई जा रही हैं। पुलिस को जिस्मफरोशी का शक था, जिसकी शिकायत एक एनजीओ द्वारा कराई गई थी।इस मामले को लेकर FIR दर्ज हुई है और पड़ताल जारी है।

दरअसल, यह रेड रविवार शाम से शुरू हुई और पूरी रात जारी रही। करीब 15 घंटे की कड़ी कार्रवाई के बाद पुलिस को पता लग पाया कि बार के अंदर एक अंडरग्राउंड तहखाना भी बनाया गया है।

मेकअप रूम की दीवारों पर लगे शीशे के पीछे यह गुप्त तहखाना बनाकर रखा हुआ था। अंदर जाने का रास्ता दीवार में लगे शीशे के पीछे से जाता था। ऑटोमेटिक इलेक्ट्रिक दरवाजे लगे हुए थे। जो दिखने पर शीशे की तरह दिखते थे, लेकिन उनके पीछे रास्ता था।

जब पुलिस गुप्त रास्ते के जरिए तहखाने तक पहुंची तो अधिकारी देखकर हैरान थे। क्योंकि वहां खड़े हो पाने की भी जगह नहीं थी। सिर्फ तीन फीट का एक कांच लगा हुआ था। मेकअप रूम में इस्तेमाल होने वाले शीशे को बड़ी की चालाकी से जोड़ा गया था। लेकिन जैसे ही हथौड़े से कांच को तोड़ा तो वहां से गुप्त तहखाने का रास्ता नजर आया।

पुलिस ने फिर जो नजारा देखा वो देख दंग रह गए। क्योंकि इस तहखाने में एसी, बेड और टीवी जैसी सभी सुविधाएं थीं। जिनमें 17 लड़िकयां छिपी हुई थीं।

बता दें कि पुलिस की नजर से बचने के लिए यह गुप्त तहखाना बनाकर रखा गया था। जब कभी पुलिस की गाड़ी चेकिंग करने के लिए आती तो लड़िकयों को इसी अंडरग्राउंड तहखाने में छिपा दिया जाता था।

इतना ही नहीं पुलिस देखते ही बार के बाहर लगे कैमरे अंदर बैठे लोगों को अलर्ट कर देते थे। फिर यहां पर मौजूद लड़कियों को गायब कर दिया जाता था। पुलिस ने पहले भी कई बार यहां पर रेड डाली, लेकिन उनके हाथ कुछ नहीं लग पाता था।


¤  प्रकाशन परिचय  ¤

Devbhoomi
From »

साभार


Publisher »
देवभूमि समाचार, देहरादून (उत्तराखण्ड)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar