सरकार साहित्यकारों को निशुल्क टैबलेट उपलब्ध करावे

इस समाचार को सुनें...

सुनील कुमार माथुर

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की जयंती पर उतर प्रदेश में स्नातक , स्नातकोतर , मेडिकल , इंजिनियरिंग और कौशल विकास प्रशिक्षण से जुडे विधार्थियों को भाजपा सरकार ने २५ दिसम्बर २०२१ को मुफ्त टैबलेट व स्मार्टफोन बांटे । ये टैबलेट व स्मार्टफोन एक करोड विधार्थियों को दिये जायेगे ।

इधर राजस्थान में राजस्थान सरकार परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए रोडवेज की बसों में परीक्षा के लिए आने जाने की निशुल्क व्यवस्था कर रखी है । ठीक इसी प्रकार केन्द्र व राज्य सरकार मिलकर स्वतंत्र लेखक , पत्रकार व साहित्यकारों को मुफ्त टैबलेट व स्मार्टफोन उपलब्ध करावे ताकि वे आनलाईन लेखन कार्य बिना बाधा के निर्बाध रूप से कर सके ।

इसके अलावा राज्य सरकार अपने यहां नियमित रूप से स्वतंत्र लेखन करने वाले साहित्यकारों , पत्रकारों और लेखकों को रियायती दर पर आवास उपलब्ध करावे । समाचार संकलन के लिए रोडवेज की सभी श्रेणी की बसों में निशुल्क आने जाने की सुविधाए उपलब्ध करावे ।

सभी स्वतंत्र लेखकों , पत्रकारों व साहित्यकारो व उनके परिजनों को सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी अस्पतालों में भी निशुल्क चिकित्सा सुविधाएं व जांचे कराने की सुविधाएं उपलब्ध करावे । साठ वर्ष व उससे अधिक आयु के हर स्वतंत्र लेखक , पत्रकार व साहित्यकार को हर माह कम से कम पन्द्रह हजार रूपये की मासिक पेंशन दी जायें ताकि वे इस मंहगाई के दौर में अपना व परिवारजनों का जीवन व्यापन आसानी से कर सके ।

जब सरकारे विधार्थियों के लिए इतना कुछ कर रही हैं तो फिर लोक कल्याणकारी सरकार होने के नाते स्वतंत्र लेखकों , पत्रकारों व साहित्यकारों के लिए भी पहल कर इतना तो कर ही सकती है । आखिर स्वयंत्र लेखक , पत्रकार व साहित्यकार भी तो समाज के सजग प्रहरी है जो अपनी ठनठनी लेखनी के जरिये समाज को एक नई दशा और दिशा तथा मार्गदर्शन प्रदान करते हैं । इसलिए सरकार को इनके कल्याण के बारे में तत्काल पहल करनी चाहिए ‌ । समस्या तो समाधान चाहती है न कि दलगत राजनीति ।


¤  प्रकाशन परिचय  ¤

Devbhoomi
From »

सुनील कुमार माथुर

लेखक एवं कवि

Address »
33, वर्धमान नगर, शोभावतो की ढाणी, खेमे का कुआ, पालरोड, जोधपुर (राजस्थान)

Publisher »
देवभूमि समाचार, देहरादून (उत्तराखण्ड)

6 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!