कांग्रेस नेता की बेटी ने कहा, नहीं जाऊंगी पापा के पास

इस समाचार को सुनें...

कांग्रेस नेता की बेटी ने कहा, नहीं जाऊंगी पापा के पास। पुलिस की टीम बोपल पहुंची तो अभिलाषा अपने दोस्त वसीम के कमरे में रुकी हुई थी. जयपुर पुलिस अभिलाषा और उसके दोस्त वसीम अकरम को लेकर जयपुर आई.

जयपुर। राजस्थान के पूर्व राज्यमंत्री और कांग्रेस नेता गोपाल केसावत की बेटी अभिलाषा केसावत को पुलिस ने अहमदाबाद से बरामद करके जयपुर कोर्ट में पेश किया. यहां 21 साल की अभिलाषा के कोर्ट में बयान दर्ज कराए गए क्योंकि उसकी किडनैपिंग का मामला दर्ज था. कोर्ट में बयान दर्ज कराते समय अभिलाषा ने अपने पापा यानि कांग्रेस नेता गोपाल केसावत के पास जाने से इनकार कर दिया. कहा कि वह बालिग है और अकेली ही रहकर दिल्ली में पढ़ाई करेगी.

जयपुर से 20 नवम्बर की शाम को अचानक लापता हुई पूर्व मंत्री की बेटी को जयपुर पुलिस ने गुजरात से दस्तयाब किया था. गुजरात के अहमदाबाद में एक सैलून के पास बने कमरे से उसे बरामद किया था. वहां अभिलाषा अपने एक दोस्त 24 वर्षीय वसीम अकरम के साथ वहां ठहरी हुई थी.

पुलिस ने बताया कि बेटी के अचानक लापता होने पर कांग्रेस नेता गोपाल केसावत ने प्रताप नगर थाने में किडनैपिंग का मुकदमा दर्ज कराया था. हमारी टीम तकनीकी आधार पर अभिलाषा का पता लगा रही थी. इसी दौरान हमें पता चला कि अभिलाषा अहमदाबाद के पास बोपल में ठहरी हुई है.

पुलिस की टीम बोपल पहुंची तो अभिलाषा अपने दोस्त वसीम के कमरे में रुकी हुई थी. जयपुर पुलिस अभिलाषा और उसके दोस्त वसीम अकरम को लेकर जयपुर आई. चूंकि अपहरण का मुकदमा दर्ज था, इसलिए दस्तयाब करने के बाद दोनों को शुक्रवार के दिन कोर्ट में पेश किया. अभिलाषा ने कोर्ट में बताया कि वह बालिग है और जान-बूझकर अहमदाबाद अपने दोस्त से मिलने गई थी.

कोर्ट में अभिलाषा ने कहा कि उसने पापा को झूठ बोला कि लड़के उसका पीछा कर रहे हैं. जबकि, हकीकत में वह अपने दोस्त से मिलने के लिए घर छोड़कर चली गई थी. अभिलाषा का दोस्त वसीम अकरम टोंक के पास राजमहल का रहने वाला है. 4 साल पहले दोनों की दोस्ती जयपुर में पढ़ाई के दौरान हुई. फिर जयपुर में पढ़ाई के बाद अभिलाषा दिल्ली में पढ़ाई के लिए गार्गी कॉलेज चली गई. वहीं, वसीम पढ़ाई छोड़कर अहमदाबाद की एक सैलून में काम करने लगा.

अभिलाषा ने बताया कि वसीम से मिलने के लिए उसने खुद अपहरण की झूठी कहानी बनाई. फिर जयपुर के NRI सर्किल पर अपनी स्कूटी खड़ी करके बस से अहमदाबाद के लिए निकल गई. इसके बाद वहां वसीम अकरम के सैलून के ही कमरे में जाकर रह रही थी. पुलिस ने अभिलाषा के बयान के बाद वसीम अकरम को छोड़ दिया. बता दें, अभिलाषा दिल्ली में गार्गी कॉलेज में BA आनर्स की पढ़ाई कर रही है. साथ ही वह कॉलेज के छात्र संघ की कोषाध्यक्ष भी है. उसने कोर्ट से कहा कि वह पिता के पास नहीं जाना चाहती है. अपने दम पर पढ़ाई करना चाहती है और आगे की जिंदगी भी अपनी इच्छानुसार जीना चाहती है.

अभिलाषा के बयान के बाद कोर्ट ने पुलिस को आदेश दिया कि उसकी इच्छा के अनुसार काम किया जाए. गौरतलब है कि 20 नवंबर की शाम अपनी बेटी की अपहरण के बाद कांग्रेस के पूर्व मंत्री गोपाल केसावत धरने पर बैठ गए थे.

कतार, फिफा, बियर, ड्रग्स, कालगर्ल और कंट्रोवर्सी


👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

कांग्रेस नेता की बेटी ने कहा, नहीं जाऊंगी पापा के पास। पुलिस की टीम बोपल पहुंची तो अभिलाषा अपने दोस्त वसीम के कमरे में रुकी हुई थी. जयपुर पुलिस अभिलाषा और उसके दोस्त वसीम अकरम को लेकर जयपुर आई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar