इतिहास के राज खोलता सिक्का

इस समाचार को सुनें...

रामत हा-शेरेन शहर का प्रसार किया जा रहा है। इसी के तहत जब क्षेत्र की खुदाई की गई तो Byzantine युग के सबूत मिले जो साबित करते हैं कि शहर का इतिहास आमतौर पर जितना समझा जाता है उससे कहीं अधिक प्राचीन है। खोजी गई कलाकृतियों में से पुरातत्वविदों को सातवीं शताब्दी ईस्वी के समय का प्राचीन वाइनप्रेस, कांस्य की चेन और सोना मिला है। अनुमान है कि यह साइट लगभग 1500 साल पुरानी है जिसका सबूत यह संरचनाएं देती हैं।

इजरायल में पुरातत्वविदों के हाथ ‘बहुमूल्य खजाना’ लगा है। Israel Antiquities Authority के शोधकर्ताओं ने रामत हा-शेरेन में तेल अवीव के उत्तर में ‘दर्लभ और अप्रत्याशित’ कलाकृतियों की खोज की है। दरअसल तेल अवीव के जिला पुरातत्वविद Diego Barkan ने कहा कि इस साइट पर यह अब तक की पहली पुरातात्विक खुदाई है। प्राचीन वाइनप्रेस का निर्माण सुंदर मोज़ेक फर्श और प्लास्टर वाली दीवारों के साथ किया गया था, जो इस बात की ओर इशारा करते हैं कि पास में कोई फार्महाउस या गोदाम था।

सबसे कीमती खोज ‘सोने का सिक्का’ –

उत्खनन निदेशक डॉ योएल अर्बेल ने कहा इमारतों और प्रतिष्ठानों के अंदर, हमें जार और खाना पकाने के बर्तनों के कई टुकड़े मिले जो यहां के खेतों में काम करने वाले मजदूरों द्वारा इस्तेमाल किए जाते थे। आईएए ने एक फेसबुक पोस्ट में बताया कि खुदाई के दौरान उजागर हुई दुर्लभ और अप्रत्याशित खोजों में से एक सोने का सिक्का है, जो 638 या 639 CE में बीजान्टिन सम्राट हेराक्लियस के शासनकाल के दौरान ढाला गया था।

सिक्के के एक तरफ बीजान्टिन शासक को दिखाया गया है, जिसके दोनों ओर उसके दो बेटे हैं। सिक्के की दूसरी तरफ गोलगोथा की पहाड़ी पर एक क्रॉस को देखा जा सकता है। यह 1300 साल पहले सोने का एक ‘अविश्वसनीय रूप से’ बहुमूल्य टुकड़ा रहा होगा और इसके मालिक का नाम इस पर लिखा गया है। आईएए के करेंसी ब्रांच के प्रमुख Dr Robert Cole के मुताबिक यह सिक्का इजराइल में बीजान्टिन शासन के अंत, फारसी आक्रमण और इस्लाम के आगमन पर नई रोशनी डालता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar