बयान को वापस नहीं लिया तो होगा आंदोलन : विश्वकर्मा

इस समाचार को सुनें...

अशोक शर्मा

बिहार प्रदेश में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह का महागठबंधन की सरकार बनते ही जुबान फिसलने लगी है। बिहार प्रदेश में सरकार की नाकामियों को उजागर करने वाले पत्रकार भाइयों के खिलाफ ललन सिंह के द्वारा कहा गया कि मीडिया को शराब नहीं मिलने की वजह से सरकार के खिलाफ हैं।

यह कहना पत्रकार बंधुओं की कलम पर रोक लगाने जैसा प्रतीत हो रहा है बताते चलें कि बिहार प्रदेश में चाहे शराबबंदी, या CTET छात्रों के ऊपर लाठी चार्ज, पटना में जहरीली शराब पीने से 6 लोगों की मौत, बेगूसराय में गुंडा टैक्स न देने पर रिक्शा चालक को पत्थर से कूच कूच कर हत्या करने संबंधित खबरें अथवा पत्रकारों के हत्या के संदर्भ में खबरें चलाए जाना बिहार प्रदेश सरकार के लिए मुसीबत बन चुकी है।

इसलिए बिहार प्रदेश सरकार की नाकामी छिपाने लिए ललन सिंह को इन मुद्दों पर ध्यान ना देकर सिर्फ पत्रकार बंधुओं के ऊपर अनाप-शनाप बयान दे दिए। पत्रकारों के आजादी के पंख कतरनें जैसा है जोकि अति निंदनीय है बिहार प्रदेश के मुख्यमंत्री समेत राज्यपाल एवं देश के प्रधानमंत्री , राष्ट्रपति को लिखित रूप से शिकायती पत्र देकर अवगत करा दिया गया है।

इंडियन कौंसिल आफ प्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष एस एन विश्वकर्मा ने (ICOP) बिहार प्रदेश अध्यक्ष अशोक शर्मा को बताएं कि बिहार प्रदेश में ललन सिंह पत्रकारों के खिलाफ दिए गए बयान को अगर वापस नहीं लेते हैं तो धरना प्रदर्शन करने के लिए अपनी कार्यकारिणी सुचारु रुप से तैयार कर ले श्री विश्वकर्मा ने बताया कि अगर ललन सिंह अपने द्वारा दिए गए बयान को वापस नहीं लेते हैं तो देश के 17 राज्यों में धरना आंदोलन किया जाएगा जिसकी पूरी दायित्व बिहार प्रदेश सरकार की होगी।


¤  प्रकाशन परिचय  ¤

Devbhoomi
From »

अशोक शर्मा

देवभूमि ब्यूरो चीफ, गया

Address »
बाराचट्टी, गया, बिहार

Publisher »
देवभूमि समाचार, देहरादून (उत्तराखण्ड)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar