पीएनबी के कर्मचारियों ने ली सत्यनिष्ठा की प्रतिज्ञा

इस समाचार को सुनें...

भ्रष्टाचार मुक्त भारत का मुख्य विषय हमें एक ऐसा माहौल या एक पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के लिए प्रेरित करता है…

देहरादून। पंजाब नैशनल बैंक, देश के अग्रणी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ने अपने एक लाख से अधिक कर्मचारियों के साथ, 31 अक्टूबर, 2022 को आयोजित एक समारोह में सत्यनिष्ठा की प्रतिज्ञा ली। यह समारोह केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC) के निर्देशों के अनुरूप 31 अक्टूबर से 06 नवंबर, 2022 तक मनाए जा रहे सतर्कता जागरूकता सप्ताह का एक हिस्सा था। स्टाफ सदस्यों के बीच ईमानदारी की संस्कृति को विकसित करने और सेवाओं की गुणवत्ता पर ध्यान केंद्रित करने, दोषों और भ्रष्ट प्रथाओं से मुक्त होने का संकल्प लिया गया।

इस वर्ष, नैतिक प्रथाओं के अपने पारिस्थितिकी तंत्र को बनाए रखने के उद्देश्य से, पीएनबी ने राष्ट्रीय एकता दिवस पर भ्रष्टाचार मुक्त भारत-विकसित भारत की थीम के साथ सतर्कता जागरूकता सप्ताह की शुरुआत की। स्वतंत्र भारत के राष्ट्रीय एकता के सूत्रधार सरदार वल्लभभाई पटेल को श्रद्धांजलि अर्पण करते हुए पीएनबी के स्टाफ सदस्यों ने भी राष्ट्रीय एकता का दृढ़ संकल्प लिया।

पीएनबी के कॉर्पोरेट कार्यालय, द्वारका, नई दिल्ली में बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्री अतुल कुमार गोयल द्वारा सत्यनिष्ठा की शपथ दिलाई गई। इस अवसर पर मुख्य सतर्कता अधिकारी, कार्यपालक निदेशकगण, मुख्य महाप्रबंधकगण, वरिष्ठ अधिकारीगण और अन्य स्टाफ सदस्य इस समारोह में उपस्थित रहे| समारोह के दौरान भारत के माननीय राष्ट्रपति, भारत के प्रधानमंत्री, भारत के उपराष्ट्रपति और केंद्रीय सतर्कता आयुक्त के संदेश भी पढ़े गए।

इस अवसर पर अपने विचार रखते हुए, श्री अतुल कुमार गोयल, एमडी एवं सीईओ, पीएनबी ने किसी भी कदाचार को रोकने के लिए अपनी दैनिक दिनचर्या में सतर्क रहने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने भ्रष्टाचार के जोखिमों को खत्म करने के लिए डिजिटलीकरण के महत्व पर भी जोर दिया और कहा, “पीएनबी ने भ्रष्टाचार से बचने के लिए कई डिजिटल पहलें की हैं और दृढ़ता से स्वीकार किया है कि सत्यनिष्ठा प्रणाली को मजबूत करने के लिए तकनीकी नवाचारों की आवश्यकता है। उन्होंने आगे कहा पीएनबी वन मोबाइल ऐप, चार क्लिक में पूर्व-अनुमोदित व्यक्तिगत ऋण और सिंगल ओटीपी, व्हाट्सएप बैंकिंग, ऑनलाइन केसीसी नवीकरण आदि बैंक के कुछ हालिया डिजिटल नवाचार हैं।

मुख्य सतर्कता अधिकारी श्री विजय कुमार त्यागी ने कहा “सतर्कता जागरूकता सप्ताह मनाने का उद्देश्य हमारे पेशेवर और व्यक्तिगत जीवन में सभी संभावित जोखिमों के प्रति सावधान और सतर्क रहना है। भ्रष्टाचार मुक्त भारत का मुख्य विषय हमें एक ऐसा माहौल या एक पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के लिए प्रेरित करता है, जिसमें पीएनबी परिवार के सदस्य संगठन के मूल्यों के प्रति पूरी तरह समर्पित हों”

बैंक ने सार्वजनिक शासन में पारदर्शिता और सत्यनिष्ठा की आवश्यकता के बारे में जनता को संवेदनशील बनाने के लिए कई गतिविधियों और लोकसंपर्क कार्यक्रमों जैसे सेमिनार, कार्यशालाओं और वॉकथॉन का भी आयोजन किया है। ग्रामीण स्तर पर, बैंक भारत के प्रत्येक नागरिक को अखंडता, पारदर्शिता और प्रतिबद्धता का महत्व बताने के लिए निवारक सतर्कता पर कई कार्यशालाओं और ग्राम सभाओं का आयोजन कर रहा है।

इसे नुक्कड़ नाटकों, लोक गीतों, स्थानीय कार्निवाल और संवादात्मक प्रतियोगिताओं जैसे क्विज, कार्टून मेकिंग, स्लोगन राइटिंग, रंगोली, पेंटिंग, पोस्टर मेकिंग के माध्यम से निष्पादित किया जा रहा है। साथ ही सतर्कता जागरूकता सप्ताह के दौरान बैंक के स्टाफ सदस्यों के लिए ऑनलाइन क्विज, निबंध लेखन, जिंगल और पोस्टर मेकिंग जैसी प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जा रहा है।


अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे- विकास कुमार-8057409636

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar