महिलाओं को दी अच्छी नस्ल की गाय की जानकारियां

इस समाचार को सुनें...

रुद्रप्रयाग। भारतीय स्टेट बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (आरसेटी) द्वारा विकास खंड अगस्त्यमुनि के धारकोट गांव में एनआरएलएम के तहत बने स्वयं सहायता समूहों को डेयरी फार्मिंग व बर्मी कंपोस्ट का प्रशिक्षण दिया गया।

इस दौरान आरसेटी श्रेष्ठा केंद्र द्वारा आयोजित मूल्यांकन परीक्षा में सभी अभ्यर्थी (प्रशिक्षणार्थी) सफल हुए। राष्ट्रीय आजीविकास मिशन के तहत बने स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को दिया जाना वाला 10 दिवसीय प्रशिक्षण 27 जुलाई से आयोजित किया गया था। प्रशिक्षण के दौरान 22 महिलाओं को डेयरी फार्मिंग व्यवसाय के साथ ही बर्मी कंपोस्ट बनाने की जानकारी दी गई।

लीड बैंक अधिकारी धन सिंह डुंगरियाल द्वारा बैंकिग व बीमा संबंधी जानकारियां दी गई, जबकि आरसेटी के प्रशिक्षक वीरेंद्र बत्र्वाल ने माइक्रो लैब उद्यमिता विकास, समय प्रबंधन, प्रोजेक्ट रिपोर्ट, समस्याओं के समाधान आदि सत्र चलाते हुए प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण अवधि के दौरान महिलाओं को सफल उद्यमी अजय कप्रवाण की डेयरी यूनिट की विजिट भी करवाई गई। उद्यमी ने समूहों की महिलाओं को अच्छी नस्ल की गायों व उनके उचित प्रबंधन की जानकारियां दी गई।

चोपड़ा गांव में मास्टर ट्रैनर चंद्रप्रकाश पंत ने बर्मी कंपोस्ट का प्रैक्टिकल करवाया। पशुपालन विभाग से पशुधन प्रसार अधिकारी राजेश नेगी द्वारा पशुपालन, पशुओं के रख-रखाव व बीमारियों से बचाव की जानकारियां दी गई। प्रशिक्षण के दौरान आरसेटी श्रेष्ठता केंद्र बेंगलुरू द्वारा मूल्यांकन हेतु परीक्षा का आयोजन किया गया जिसमें सभी प्रतिभागी सफल रहे। समापन अवसर पर प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण-पत्र वितरित किए गए।

इस अवसर पर वीरेंद्र बत्र्वाल, प्रवीण कप्रवाण सहित प्रशिक्षण ले रही सुनीता देवी, पूनम देवी, अंजली देवी, विनीता देवी, कुंवरी देवी, सुधा देवी, राजेश्वरी देवी, रजनी देवी आदि महिलाएं उपस्थित थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!