बिहार की टीम ने उड़ीसा में दिखाई अपनी संस्कृति

इस समाचार को सुनें...

अशोक शर्मा

गया, बिहार। उड़ीसा में हो रहे सात दिवसीय राष्ट्रीय एकीकरण शिविर में बिहार के एनएसएस स्वयंसेवकों ने अपनी बिहारी सभ्यता संस्कृति को बखूबी दिखा रहे हैं, और सभी कार्यक्रमों में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर रहे हैं। वाद विवाद प्रतियोगिता में राष्ट्रपति अवार्डी विशाल राज और टि्वंकल कुमारी ने बेहतर प्रदर्शन किया।

साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम में भी शिवा श्री नैंसी, सावन अभिषेक,टि्वंकल कुमारी, मैक्स कुमार, हेमंत सिंह,विशाल राज ने बेहतर प्रदर्शन किया। एक तरह से यहां लघु भारत की झांकी निकाली गई जिसमें सभी राज्यों बिहार, झारखंड, मध्यप्रदेश, उड़ीसा, असम, मणिपुर, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, छत्तीसगढ़,सिक्किम,बंगाल,तमिलनाडु आदि राज्यों ने अपनी संस्कृति अपनी वेशभूषा का प्रदर्शन किया।

ज्ञात हो कि बिहार झारखंड क्षेत्रीय निदेशालय के अंतर्गत मगध विश्वविद्यालय से 6 स्वयंसेवक एनआईसी कैंप उड़ीसा भुवनेश्वर के लिए चयन किये गए हैं जिनमें एनएसएस कार्यक्रम पदाधिकारी ओम प्रकाश वर्मा टीम की देखरेख बखूबी तरीके से कर रहे हैं। पूरे मगध विश्वविद्यालय से इन छः बच्चों को चुना गया है जो वहां बिहार के सभ्यता संस्कृति को प्रदर्शित करने का कार्य कर रहे हैं और पूरे भारत मैं अपनी संस्कृति की पहचान दे रहे हैं।

मगध विश्वविद्यालय के समन्वयक अंजनी कुमार घोष, गया कॉलेज गया एवम जगजीवन कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य प्रोफेसर दिनेश प्रसाद सिन्हा और सच्चिदानंद सिन्हा औरंगाबाद कॉलेज के प्राचार्य डॉ वेद प्रकाश चतुर्वेदी ने कहा कि जिन स्वयंसेवकों का भी राष्ट्रीय स्तर पर चयन हुआ है उन सभी स्वयंसेवकों में वह काबिलियत है कि वो ना केवल मगध विश्वविद्यालय स्तर पर बल्कि भारत के किसी भी बड़े मंच में अपना परचम लहरा सकते हैं, इस कार्य को उड़ीसा के भुनेश्वर में बखूबी तरीके से निभा रहे हैं एवं सभी बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ।


¤  प्रकाशन परिचय  ¤

Devbhoomi
From »

अशोक शर्मा

देवभूमि ब्यूरो चीफ, गया

Address »
बाराचट्टी, गया, बिहार

Publisher »
देवभूमि समाचार, देहरादून (उत्तराखण्ड)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!