उत्तराखंड की हरियाली हमेशा जनरल बिपिन रावत की याद दिलाएगी

इस समाचार को सुनें...

(देवभूमि समाचार)

नई दिल्ली| तमिलनाडु में कुन्नूर के समीप बुधवार को हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना में भारत के पहले प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत और 11 अन्य लोगों की मृत्यु हो गई. यह जानकारी भारतीय वायुसेना ने दी.

इसने कहा कि दुर्घटना में एकमात्र बचे ग्रुप कैप्टन वरूण सिंह का फिलहाल वेलिंगटन में सेना के अस्पताल में इलाज चल रहा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि ‘अत्यंत दुखद हेलीकॉप्टर दुर्घटना’ में जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य की अचानक मृत्यु से उन्हें ‘गहरा दुख’ पहुंचा है.

वायुसेना ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘बहुत ही अफसोस के साथ इसकी पुष्टि हुई है कि दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना में जनरल बिपिन रावत, श्रीमती मधुलिका रावत और 11 अन्य की मृत्यु हो गई है.’ वायुसेना ने कहा, ‘जनरल बिपिन रावत डिफेंस सर्विसेज स्टॉफ कॉलेज के दौरे पर जा रहे थे जहां उन्हें शिक्षकों एवं छात्रों को संबोधित करना था.’

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में सुरक्षा पर कैबिनेट समिति (सीसीएस) की बैठक में दुर्घटना से उत्पन्न स्थिति पर चर्चा की गई. वायुसेना ने बताया कि एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर में सीडीएस और नौ अन्य यात्री तथा चालक दल के चार सदस्य सवार थे. यह हेलीकॉप्टर दोपहर दो बजे के करीब कुन्नूर के निकट दुर्घटनाग्रस्त हो गया. वायुसेना ने कहा कि दुर्घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल रावत तीनों सेनाओं के महत्वाकांक्षी आधुनिकीकरण की योजना को लागू करने का काम देख रहे थे ताकि सशस्त्र बलों में समन्वय बनाया जा सके और उनकी लड़ाकू क्षमता को बढ़ाया जा सके. सिंह ने ट्वीट किया, ‘तमिलनाडु में आज एक बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हेलीकॉप्टर दुर्घटना में सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और सशस्त्र बलों के 11 अन्य कर्मियों के आकस्मिक निधन से गहरा दुख हुआ.’

रक्षा मंत्री ने कहा, ‘उनका असामयिक निधन हमारे सशस्त्र बलों और देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है.’ सिंह ने कहा, ‘इस दुर्घटना में अपने प्रियजनों को खोने वालों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है. ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं, जिनका वर्तमान में सैन्य अस्पताल, वेलिंगटन में इलाज चल रहा है.’

जनरल रावत 17 दिसंबर 2016 से 31 दिसंबर 2019 तक भारतीय सेना के प्रमुख थे. उन्हें 31 दिसंबर 2019 को प्रमुख रक्षा अध्यक्ष नियुक्त किया गया. जनरल रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य के निधन पर सेना प्रमुख जनरल एम.एम. नरवणे और सेना के अन्य अधिकारियों ने शोक व्यक्त किया. सेना ने ट्वीट किया, ‘जनरल बिपिन रावत का ओजस्वी एवं प्रेरणादायक नेतृत्व हमेशा हमारी यादों में रहेगा. भारतीय सेना उनके अमूल्य योगदान के लिए हमेशा ऋणी रहेगी.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar