छात्राओं के अश्लील वीडियो बनाकर बेच रहा था टीचर, गिरफ्तार

इस समाचार को सुनें...

छात्राओं के अश्लील वीडियो बनाकर बेच रहा था टीचर, स्कूली छात्रा को खुद का एक फोटो और ID कार्ड भेजने को कहा गया. मामले में मदद के लिए छात्रा Hug Foundation के पास पहुंची. इसके बाद पुलिस…

नई दिल्ली। स्कूली छात्राओं के पोर्न वीडियो बनाने के मामले में एक प्राइमरी टीचर को गिरफ्तार किया गया है. टीचर पर आरोप है कि वह वीडियोज को बेच दिया करता था. मामला थाईलैंड के समुत प्राकाण का है. आरोपी टीचर का नाम नत्दानाई बताया जा रहा है. thethaiger.com की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 28 साल के नत्दानाई ने खुद कबूल किया है कि उसने पिछले एक साल में पॉर्न वीडियो से करीब 20 लाख रुपए कमाए हैं.

बैंकॉक साइबरक्राइम फोर्स ने आरोपी टीचर को बैंकॉक से गिरफ्तार कर लिया. टीचर पर पोर्नोग्राफी बनाने, रखने और उसे बेचने का आरोप है. टीचर को गिरफ्तार करने गई टीम को उसके रूम में हिडन कैमरा और उसके पास से कई पोर्न वीडियो भी मिले हैं. पुलिस ऑफिसर्स को टीचर के कमरे से कई मोबाइल फोन, एक कंप्यूटर, SIM कार्ड्स, बैंक बुक्स और साइबरक्राइम में इस्तेमाल होने वाली कई दूसरी चीजें भी मिली हैं.

छात्राओं के अश्लील वीडियो बनाकर बेच रहा था टीचर, स्कूली छात्रा को खुद का एक फोटो और ID कार्ड भेजने को कहा गया. मामले में मदद के लिए छात्रा Hug Foundation के पास पहुंची. इसके बाद पुलिस...रिपोर्ट में बताया गया है कि ‘Hug Project Thailand’ नाम की एक संस्था की तरफ से मिली शिकायत के बाद आरोपी टीचर को गिरफ्तार किया गया है. दरअसल, संस्था के पास एक स्कूली छात्रा मदद के लिए पहुंची थी. उसने बताया कि किसी ने उसका पोर्न वीडियो रूसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म शेयर कर दिया है. जब स्कूली छात्रा ने पोस्ट करने वाले यूजर से वीडियो हटाने को कहा तो यूजर ने उससे पैसों की मांग की.

स्कूली छात्रा को खुद का एक फोटो और ID कार्ड भेजने को कहा गया. मामले में मदद के लिए छात्रा Hug Foundation के पास पहुंची. इसके बाद पुलिस को इस बारे में बतया गया. रिपोर्ट में बताया गया है कि नत्दानाई ने अपने ट्रैक को छुपाने के लिए बहुत ज्यादा कोशिश नहीं की थी. इसलिए साइबरक्राइम ऑफिसर्स उसके पास बहुत जल्दी पहुंच गए. नत्दानाई ने कबूल किया है कि उसने पिछले साल में 1800 वीडियोज शेयर किए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar