उत्तराखंड में बच्चा चोरी की अफवाह, विक्षिप्त को पीटा

इस समाचार को सुनें...

हरिद्वार। इन दिनों सोशल मीडिया पर बच्चा चोर गिरोह सक्रिय होने की खबर तेजी से वायरल हो रही है. जिसकी वजह से जगह-जगह संदिग्ध देखे जाने पर लोग बिना मामले की जांच किए बच्चा चोर समझ उसकी पिटाई कर रहे हैं. ताजा मामला हरिद्वार जिले के बहादराबाद थाना क्षेत्र से सामने आया है. जहां एक मानसिक विक्षिप्त को बच्चा चोर समझकर लोगों ने उसकी जमकर धुनाई कर दी. जिसका वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

बता दें कि बहादराबाद थाना क्षेत्र में मानसिक विक्षिप्त व्यक्ति पर बच्चा चोरी का आरोप लगाते हुए स्थानीय लोगों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी. सूचना पर पहुंची पुलिस ने एक राहगीर द्वारा बनाई गई वीडियो के आधार पर 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया. वहीं, घटना के बाद घायल विक्षिप्त व्यक्ति भी मौके से गायब हो गया. बहादराबाद पुलिस ने गिरफ्तार व्यक्तियों के अलावा वीडियो में मारपीट कर रहे लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है.

जानकारी अनुसार कस्बा बहादराबाद में तैनात चेतक पुलिस को सूचना मिली कि एक मानसिक विक्षिप्त को भीड़ ने बच्चा चोरी के आरोप में पिटाई कर रही है. इसकी जानकारी चेतक पुलिस ने थाना बहादराबाद पुलिस को दी, लेकिन जब तक पुलिस मौके पर पहुंची लोगों ने मानसिक विक्षिप्त व्यक्ति की पिटाई कर उसे भगा दिया था. इसी दौरान कुछ लोगों ने इस मारपीट का वीडियो बनाया था. इसी वीडियो के आधार पर पुलिस ने अनूप, रवि निवासी बोंगला बहादराबाद और अजय निवासी भगवानपुर को गिरफ्तार किया.

वीडियो में इन तीनों आरोपियों के साथ कुछ अन्य लोगों भी विक्षिप्त को पीटते नजर आ रहे हैं. जिसके आधार पर पुलिस उनकी पहचान कर रही है. थानाध्यक्ष बहादराबाद नितेश शर्मा ने कहा तीनों आरोपियों के खिलाफ संबंधित धाराओं में चालान किया जा रहा है. जिसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा और फरार अन्य आरोपियों की जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी.

रुड़की के ग्रामीण इलाकों में बच्चा चोर गैंग सक्रिय होने को लेकर लोगों को जागरूक करना नारसन ब्लॉक के उप खंड शिक्षा अधिकारी को भारी पड़ गया. मामले में पुलिस ने बच्चा चोर गैंग की झूठी खबर और अफवाह फैलाने के आरोप में उप खंड शिक्षा अधिकारी मेराज अहमद के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है.

बता दें कि झबरेड़ा क्षेत्र के व्हाट्सएप ग्रुप में इस तरह की अफवाह फैलाने पर पुलिस ने ग्रुप एडमिन समेत नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. वहीं, एसएसपी हरिद्वार डॉ योगेंद्र सिंह रावत ने लोगों को अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है. साथ ही अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. उप खंड शिक्षा अधिकारी मेराज अहमद के नाम से वायरल पत्र में कहा गया है कि बच्चा चोर गैंग, मानव तस्करी से जुड़ा हो सकता है. अभिभावक सावधान रहें और अपने बच्चों पर नजर रखें. क्षेत्र में कोई भी संदिग्ध नजर आने पर तुरंत पुलिस को सूचना दें. यह पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. लोग इस पत्र का हवाला देते हुए एक दूसरे को सावधान कर रहे हैं.

वहीं, उप खंड शिक्षा अधिकारी मेराज अहमद के वायरल पत्र मामले को लेकर ईटीवी भारत ने उनसे बात की. जिसमें उन्होंने बताया कि यह पत्र उन्होंने वायरल नहीं किया है. साथ ही उन्होंने वायरल पत्र का खंडन करते हुए एक पत्र और जारी किया है. बता दें कि हरिद्वार जनपद के देहात क्षेत्र झबरेड़ा और मंगलौर में इन दिनों बच्चा चोर गैंग सक्रिय होने की अफवाह फैली हुई है. क्षेत्र में चर्चा है कि यह गैंग बच्चों का अपहरण कर उनके अंग निकाल कर बेच देता है. इसके अलावा रुद्रपुर के दिनेशपुर थाना क्षेत्र में भी लोगों ने दो संदिग्ध व्यक्ति को देखा. जिसे बच्चा चोर समझकर ग्रामीणों ने जमकर धुनाई कर दी. सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों व्यक्ति को हिरासत में लेकर थाने पहुंची. जांच में पता चला की दोनों व्यक्ति मानसिक रूप से विक्षिप्त हैं. अब पुलिस मामले में मारपीट करने वाले आरोपियों को चिन्हित करने में जुटी है.

वहीं, पुलिस ने कहा यह पूरी तरह अफवाह है. पत्र वायरल होने से लोगों में सनसनी फैली हुई है. मामले में एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत के निर्देश पर कोतवाली पुलिस में उप खंड शिक्षा अधिकारी मेराज अहमद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. वहीं दूसरी और झबरेड़ा थानाध्यक्ष संजीव थपलियाल ने कहा सोशल मीडिया पर बच्चा चोरी की झूठी अफवाह वीडियो और ऑडियो मैसेज भेजने पर व्हाट्सएप ग्रुप के एडमिन और ग्रुप मेंबर्स पर मुकदमा दर्ज किया गया है. एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने वीडियो जारी कर जिले के लोगों को इस अफवाह पर ध्यान नहीं देने की अपील की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!