प्रभावित परिवारों को मुआवजा राशि वितरित कराने के निर्देश

इस समाचार को सुनें...

रुद्रप्रयाग। विगत दिनों तहसील जखोली क्षेत्रांतर्गत भारी बारिश के कारण हुए भू-स्खलन से क्षेत्र के कई गांवों के आवासीय भवनों, गौशाला एवं कृषि भूमि को काफी नुकसान हुआ है। जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने प्रभावित आपदाग्रस्त क्षेत्र का स्थलीय निरीक्षण कर उप जिलाधिकारी सहित संबंधित अधिकारी विद्युत, सड़क, पेयजल आदि विभागों को प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण कर क्षति का आंकलन करते हुए प्रभावित परिवारों को तत्काल मुआवजा राशि वितरित कराने के निर्देश दिए गए।

जिलाधिकारी के निर्देशों के अनुपालन में राजस्व टीम द्वारा आपदाग्रस्त क्षेत्रों का निरीक्षण कर घरों एवं फसलों को हुए नुकसान का आंकलन किया जा रहा है। उप जिलाधिकारी जखोली परमानंद राम ने अवगत कराया है कि अतिवृष्टि से प्रभावित आवासीय भवनों को हुई क्षति के लिए प्रभावित परिवारों को राहत राशि उपलब्ध कराई गई है जिसमें ग्राम लुठियाग के विजय पाल सिंह पुत्र समन सिंह का आवास गंभीर क्षतिग्रस्त हुआ है जिनको 1 लाख, 1 हजार नौ सौ रुपए की धनराशि उपलब्ध कराई गई है।

इसके साथ ही लुठियाग गांव के भरपूर सिंह पुत्र शूरवीर सिंह, राकेश सिंह पुत्र भरत सिंह, मकान सिंह पुत्र कर्ण सिंह, महावीर सोहन सिंह पुत्र बचन सिंह, मुकेश सिंह पुत्र भरत सिंह, दीपक सिंह पुत्र दरवान सिंह, रूपचंद्र सिंह पुत्र मूलचंद सिंह, दीवान सिंह पुत्र सरोप सिंह, प्रदीप सिंह पुत्र हीरा सिंह, कुंवर सिंह पुत्र गोकुल सिंह, बचन सिंह पुत्र जीत सिंह, प्रेम सिंह पुत्र रामचंद सिंह के आवास आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं जिनको 5-5 हजार दो-दो सौ रुपए की मुआवजा राशि वितरित की गई है। उन्होंने अवगत कराया कि राजस्व टीम द्वारा हिलांऊ गदेरे में बादल फटने से क्षति का आंकलन किया गया है जिसमें राजस्व ग्राम घरड़ा, मखेत, कोटी, बैनोली, पाला कुराली, लुठियाग, त्यूंखर, लौंगा के 239 व्यक्ति प्रभावित हुए है तथा 9.011 है. कृषि भूमि क्षतिग्रस्त हुई है।

अधिशासी अभियंता लोनिवि जे.एस. रावत ने अवगत कराया है कि भारी वर्षा के कारण जो सड़क मार्ग बाधित हो गए थे जिसमें तिलवाड़ा-घनसाली-टिहरी, अमकोटी-त्यूंखर, कोटी-धान्यूं-घरड़ा, आश्रम-घरड़ा-मखेत, त्यूंखर-चिरबटिया मार्ग अवरुद्ध हो गए थे जिनको यातायात के लिए कल श्यायं को ही खोल दिया गया था तथा मलवा की सफाई, दीवारें क्षतिग्रस्त, स्कवर आदि मरम्मत कार्यों पर 25 लाख का व्यय होने का अनुमान है।

अधिशासी अभियंता जल संस्थान संजय सिंह ने अवगत कराया है कि जखोली-त्यूंखर में 4 पेयजल योजनाएं क्षतिग्रस्त हुई हैं तथा 5 पेयजल स्रोत क्षतिग्रस्त हुए हैं जिसमें 6 लाख व्यय होने का अनुमान है। लुठियाग में 4 पेयजल योजनाएं तथा 5 स्रोत क्षतिग्रस्त, 20 केएल टेंक क्षतिग्रस्त हुआ है जिसमें 9 लाख व्यय होने का अनुमान है। सकलाना में 32 एमएम की 200 मीटर की पाइप लाइन क्षतिग्रस्त तथा 2 स्रोत क्षतिग्रस्त हुए हैं जिसमें 1 लाख 50 हजार व्यय होने का अनुमान है। घरड़ा में एक पेयजल योजना क्षतिग्रस्त हुई जिसमें 1 लाख व्यय होने का अनुमान है।

लौंगा में दो पेयजल योजनाएं तथा तीन स्रोत क्षतिग्रस्त हुए है जसमें 2 लाख व्यय होने का अनुमान है। तथा चिरबटिया में 2 पेयजल योजनाएं तथा 3 स्रोत क्षतिग्रस्त हुए हैं जिसमें 5 लाख व्यय होने का अनुमान है। उक्त गांवों में ग्रामीणों की पेयजल हेतु स्थाई व्यवस्था हेतु कार्य प्रगति पर है। अधिशासी अभियंता पेयजल नवल कुमार ने अवगत कराया है कि जवाड़ी-रौठिया पेयजल योजना मुख्य पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त होने से क्षेत्र के 52 तोक प्रभावित हुए हैं। जिनके मरम्मत कार्य में 25 लाख व्यय होने का अनुमान है। क्षेत्र में पानी की व्यवस्था हेतु पूर्व से संचालित लाइनों से की जा रही है।

अधिशासी अभियंता विद्युत मनोज कुमार ने अवगत कराया है कि जखोली क्षेत्रांर्गत भारी बारिश के कारण 33 केवी लाइन के दो पोल ग्राम चिरबटिया में 08 विद्युत पोल, बुढना में 03 विद्युत पोल तथा त्यूंखर में 03 विद्युत पोल क्षतिग्रस्त हुए हैं जिन पर 6 लाख का व्यय होने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि उक्त गांवों में विद्युत व्यवस्था सुचारू कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!