कार्य में हीला हवाली बर्दाश्त नहीं की जाएगी : जिलाधिकारी

इस समाचार को सुनें...

रुद्रप्रयाग। जनपद वासियों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराए जाने के लिए जल जीवन मिशन योजना के अंतर्गत फेज-2 में किए जा रहे कार्यों को शीर्ष प्राथमिकता के साथ गुणवत्ता एवं शीघ्रता से शीघ्र पूर्ण कर लिए जाएं, यह निर्देश जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने जिला कार्यालय में जल जीवन मिशन की समीक्षा बैठक के दौरान संबंधित अधिकारियों को दिए।

बैठक में जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता जल निगम एवं जल संस्थान को निर्देश दिए हैं कि जल जीवन मिशन योजना केंद्र एवं राज्य सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना है। इस योजना के तहत जनपद वासियों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराए जाने के लिए जो भी निर्माण कार्य किए जा रहे हैं उन कार्यों को गुणवत्ता के साथ शीर्ष प्राथमिकता से पूर्ण करते हुए जनपद वासिसों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि फेज-2 में जो भी कार्य किए जा रहे हैं जिनमें एमबी तैयार की जानी है तथा थर्ड पार्टी कराए जाने हैं व जिन कार्यों के लिए टेंडर प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है उन पर त्वरित गति से कार्य करना सुनिश्चित करें तथा जिन कार्यों पर रिटेंडर किए जाने हैं उन पर तत्काल रिटेंडर करते हुए टेंडर प्रक्रिया पूर्ण कर कार्य तत्परता से शुरू किया जाए इसमें किसी भी प्रकार का विलंब नहीं होना चाहिए।

उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि इस कार्य में हीला हवाली बर्दाश्त नहीं की जाएगी। समीक्षा के दौरान उन्होंने जनपद के जिन विद्यालयों में पेयजल संयोजन नहीं हुए हैं उनमें भी शीर्ष प्राथमिकता से पेयजल संयोजन कराना सुनिश्चित करें। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जिन आंगनबाड़ी केंद्रों में पेयजल संयोजन नहीं हुए हैं।

ऐसे आंगनबाड़ी केंद्रों पेयजल संयोजन तत्परता के साथ किए जाएं तथा जिन पंचायत घरों में भी पेयजल कनेक्शन नहीं हुए हैं उनमें पेयजल कनेक्शन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए तथा जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि जिन पंचायत घरों में पेयजल संयोजन नहीं किए गए हैं उनकी सूची जल निगम एवं जल संस्थान को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिन स्वास्थ्य केंद्रों में पेयजल कनेक्शन नहीं हैं उनमें यथाशीघ्र पेयजल संयोजन कराने के निर्देश दिए गए।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार, परियोजना निदेशक रमेश चंद्र, मुख्य शिक्षा अधिकारी यशवंत सिंह चैधरी, अधिशासी अभियंता जल निगम नवल कुमार, जल संस्थान संजय सिंह, सिंचाई पीएस बिष्ट, मुख्य कृषि अधिकारी दीपक पुरोहित सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!