15 दिवसीय विरासत आर्ट एंड हेरीटेज फेस्टिवल 2022 की शानदार सफलता

विरासत महोत्सव का अगला संस्करण अगले साल 2023 नवरात्रि और दिवाली समारोह के आसपास होगा

इस समाचार को सुनें...

विरासत महोत्सव जल्द ही अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की बकेट लिस्ट में महत्वपूर्ण स्थान लेगा – आरके सिंह

देहरादून। रूरल एंटरप्रेन्योरशिप फॉर आर्ट एंड कल्चरल हेरिटेज (रीच) द्वारा आयोजित 15-दिवसीय विरासत आर्ट एंड हेरीटेज फेस्टिवल, इस सीजन का समापन राज्य और देश भर से 300000 से अधिक आगंतुकों की जबरदस्त प्रतिक्रिया के साथ हुआ। इस महोत्सव में प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा मंत्रमुग्ध कर देने वाला प्रदर्शन देखा गया जिन्होंने अपने प्रदर्शन से देहरादून के लोगों का दिल जीता। महोत्सव के समापन समारोह में पंजाबी गायिका सुनंदा शर्मा द्वारा भारतीय शास्त्रीय संगीत की शानदार प्रस्तुति भी दिखाई गई।

विरासत आर्ट एंड हेरीटेज फेस्टिवल 2022 के 26वें संस्करण की शानदार सफलता के बाद, रीच ने घोषणा की है कि उत्सव का अगला संस्करण अगले साल नवरात्रि और दिवाली समारोहों के आसपास (27 अक्टूबर से 10 नवंबर ’23 तक) आयोजित किया जाएगा जिसमें रोमांचक कला और सांस्कृतिक प्रदर्शनों को और भी बड़ा और बेहतर बनाने का प्रयास किया जाएगा।

यह फेस्टिवल का 26 वां संस्करण, जिसे एफ्रो-एशिया की सबसे बड़ी विरासत और लोक जीवन उत्सव के रूप में जाना जाता है जो 9 अक्टूबर 2022 को शुरू हुआ एवं इसका समापन 23 अक्टूबर को हुआ था। इस फेस्टिवल के मुख्य आकर्षण केन्द्र विभिन्न प्रकार के व्यंजन, शिल्प कार्यशालाएं एवं प्रदर्शनी शामिल थीं। राज्य और देश भर के कलाकारों ने उत्सव में सक्रिय रूप से भाग लिया, जिसमें वडालिस, अश्विनी भिड़े, सुरेश वाडकर, प्रह्लाद सिंह टिपानिया, उस्मान मीर, कुमरेश और कई अन्य जैसे प्रसिद्ध कलाकारों ने प्रदर्शन किया। उत्सव में एक शिल्प गांव, व्यंजन स्टाल, एक कला मेला, लोक संगीत, बॉलीवुड शैली के प्रदर्शन, विरासत की सैर और अन्य गतिविधियों को भी प्रदर्शित किया गया।

दो सप्ताह के इस उत्सव ने लोगों को प्रसिद्ध शास्त्रीय संगीत और नृत्य के उस्तादों के साथ-साथ मास्टर कारीगरों द्वारा प्रस्तुत कला, संस्कृति और संगीत का बारीकी से अनुभव करने का अवसर प्रदान किया गया जो पूरे देश के लोगों को भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और इसके महत्व के बारे में जानने के लिए एक मंच प्रदान करता है। कला प्रदर्शनी, संगीत, भोजन और हेरिटेज वॉक सहित त्योहार का प्रत्येक पहलू, भारतीय विरासत से जुड़े एक पारंपरिक मूल्य का प्रतिनिधित्व करता है। इस वर्ष आगंतुकों के लिए एक बढ़िया भोजन का अनुभव भी उपलब्ध था। ताज, मैरियट, हयात और पंजाब ग्रिल जैसी शीर्ष होटल श्रृंखलाओं ने भी भाग लिया और आने वाले समय में वे सभी ने बड़े स्वरूप में पूनः आने का वादा किया।

समापन समारोह में बोलते हुए, आरके सिंह- संस्थापक और महासचिव, रीच ने कहा, “ विरासत आर्ट एंड हेरीटेज फेस्टिवल के 26 वें संस्करण के सफल समापन से हम प्रसन्न हैं। देश भर के नागरिकों से विरासत 2022 के लिए समर्थन का स्तर हमारी अपेक्षाओं से कहीं अधिक है। हमें विश्वास है कि विरासत 2023 इस वर्ष की तरह ही सफल होगा, जो आपको मंत्रमुग्ध कर देगा और आपको एक और यादगार संगीत और सांस्कृतिक साहसिक कार्य में ले जाएगा। यह महोत्सव जल्द ही अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की बकेट लिस्ट में महत्वपूर्ण हो जाएगा और यह इस हिमालयी राज्य की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के अलावा लोगों के बीच सांस्कृतिक पत्राचार को बढ़ाएगा।”


अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे- विकास कुमार-8057409636

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar