महिला मंच की एक टीम पहुंची, कहा- सही जांच जरूरी

इस समाचार को सुनें...

उत्तरकाशी से पहुंची पुष्पा चौहान ने कहा कि अभी तक अंकिता हत्याकांड में जो कार्रवाई हुई उसमें साक्ष्यों को मिटाने की कोशिश की गई है।

श्रीनगर। उत्तराखंड महिला मंच की ओर से अंकिता हत्याकांड को लेकर देश के विभिन्न महिला संगठनों की टीम तथ्यान्वेषण के लिए अंकिता भंडारी के गांव डोभ श्रीकोट पहुंची।

डालमिया धर्मशाला में आयोजित बैठक में टीम की सदस्यों ने बताया कि पहली टीम अंकिता भंडारी के गांव से होकर श्रीनगर पहुंच चुकी है जबकि दूसरी टीम ऋषिकेश में वनंत्रा रिजॉर्ट व चीला बैराज के आसपास की जगहों का दौरा कर लोगों से पूछताछ कर रही है।

मानवाधिकार संगठन पीयूसीएल की राष्ट्रीय सचिव कविता श्रीवास्तव ने कहा कि कमेटी का उद्देश्य अंकिता की न्याय की लड़ाई में सही और न्यायपूर्ण जांच करवाना है। ऐडवा संगठन में दिल्ली की सचिव मैमूना ने कहा कि अंकिता मामले में बुलडोजर से सबूतों को मिटाने का काम कर अपराधियों को संरक्षण दिया है।

उत्तरकाशी से पहुंची पुष्पा चौहान ने कहा कि अभी तक अंकिता हत्याकांड में जो कार्रवाई हुई उसमें साक्ष्यों को मिटाने की कोशिश की गई है। इस मौके पर समाजसेवी अनिल स्वामी, उत्तराखंड आंदोलनकारी मदन मोहन नौटियाल, प्रताप भंडारी, अंकित उछोली, प्रभाकर बाबूलकर, रेशमा पंवार, शिवानी पांडे, गंगा असनोड़ा व उमा भट्ट आदि मौजूद थे।

7 महिलाएं अचानक ही धरती में समा गईं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar