पिथौरागढ में तैयार हुए बागेश्वर के 25 आपदा मित्र

सीडीओ ने बांटे प्रमाण पत्र, कहा गांव स्तर तक जागरूकता जरूरी

इस समाचार को सुनें...

पिथौरागढ। प्राकृतिक आपदा की दृष्टि से अति संवेदनशील सीमांत जनपदों में प्रत्येक व्यक्ति को आपदा के दौरान राहत और बचाव कार्य के साथ ही प्राथमिक उपचार की जानकारी होनी चाहिए। इसके लिए आपदा मित्रों को अपने अपने क्षेत्रों में लोगों को जागरुक करना चाहिए। मुख्य विकास अधिकारी अनुराधा पाल ने 12 दिवसीय आपदा मित्र अद्यतनिकरण प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि यह बात कही।

उन्होंने कहा कि इन शिविरों में प्रशिक्षित होकर लौटे पीआरडी व एनवाईके के युवाओं को तहसील स्तर पर आयोजित होने वाले आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण कार्यक्रम में भी प्रशिक्षित किया जाए ताकि इनमें से लोग मास्टर ट्रेनर बनकर सामने आऐं जो अपने अपने क्षेत्रों में ग्रामीणों को उनके पास उपलब्ध संसाधनों से आपदाकाल में लोगों को राहत प्रदान कर सकें।

कहा कि राज्य सरकार आपदा प्रबंधन को लेकर गंभीर है और जो संस्थाएं आपदा प्रबंधन में दक्ष हैं उनको प्रोत्साहित किया जाएगा। उन्होंने प्रशिक्षण दे रही आईस संस्था द्वारा पिछले 23 सालों में की गई उल्लेखनीय सेवाओं के लिए संस्था की सराहना की और कहा कि सीमित संसाधनों के बावजूद आईस संस्था ने कई मौकों पर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मंचों पर अपना लोहा मनवाया है।

समारोह में विशिष्ट अतिथि जिला बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष लक्ष्मी भट्ट ने कहा कि आपदाकाल में सर्वाधिक रूप से दिव्यांग, गर्भवती महिलाऐं और बच्चे प्रभावित होते हैं। इनके प्रति अति संवेदनशीलता से व्यवहार किया जाना चाहिए। समिति की सदस्य सुश्री रेखा रानी और मनरेगा लोकपाल विनीता कलौनी ने आपदा मित्रों से कहा कि वे इन प्रशिक्षण शिविरों में प्राप्त ज्ञान का निरंतर अभ्यास करें और स्थानीय प्रशासन द्वारा आयोजित होने वाले शिविरों में अपना योगदान दें।



इससे पूर्व रेडक्रास समिति की समन्वयक पूनम खत्री ने सीडीओ को स्मृतिचिन्ह भेंटकर सम्मानित किया। राज्यपाल पुरुस्कार से सम्मानित चंचल प्रसाद ने श्रीमती लक्ष्मी भट्ट को, तिरंगा रेस्क्यू यूनिट के प्रशिक्षक काशी खत्री ने श्रीमती कलौनी को और मुकेश गिरी ने रेखा रानी को सम्मानित किया। समापन समारोह में अतिथियों ने आपदा मित्रों को प्रमाण पत्र वितरित किए। स्था के सचिव बासू पाण्डेय ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन आयोग और राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में बागेश्वर जनपद के इन युवाओं को दूसरे चरण में प्रशिक्षण दिया गया।

युवाओं को देश में स्थित विभिन्न पर्वतारोहण संस्थानों से उच्च प्रशिक्षित विश्वदेव पांडेय वासू, चंचल प्रसाद, मुकेश गिरी के साथ ही लोकेश पवार, पवन कुमार, अभिषेक भंडारी एवं अतिथि वक्ता पूनम खत्री ने प्रशिक्षण दिया। समारोह का संचालन आईस संस्था अध्यक्ष जगदीश कलौनी ने किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!