जल जीवन मिशन, प्रस्तावित पेयजल योजना का स्थलीय निरीक्षण

इस समाचार को सुनें...

रूद्रपुर। मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई ने आज विकास खण्ड गदरपुर के ग्राम पंचायत बुरानगर के अन्तर्गत ग्राम मोहनपुर में जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अन्तर्गत प्रस्तावित पेयजल योजना का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होने पेयजल आपूर्ति हेतु बिछाई जा रही पाईप लाईन का निरीक्षण करते हुये अधिशासी अभियन्ता पेयजल निगम को निर्देश दिये कि प्राक्कलन में की गयी व्यवस्थानुसार पूर्ण पारदर्शिता के साथ-साथ उच्च गुणवत्तायुक्त अतिशीघ्र पूर्ण करना सुनिश्चित करें।

निरीक्षण के दौरान अधिशासी अभियन्ता पेयजल निगम द्वारा अवगत कराया गया कि उक्त क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति हेतु निर्माणाधीन नलकूप, पम्प हाउस एवं ओवर हैंड टैंक निर्माण स्थल पर जमीनी विवाद होने के कारण कार्य बाधित हुआ है । इस सम्बन्ध में मुख्य विकास अधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता पेयजल निगम को निर्देश दिये कि उक्त तथ्य उप जिलाधिकारी गदरपुर को अवगत कराते हुए जमीन सम्बन्धी विवाद का नियमानुसार निस्तारण कराकर नलकूप, पम्प हाउस एवं ओवर हैंड टैंक का निर्माण कराकर शुद्व पेयजल आपूर्ति की कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।

निरीक्षण के उपरान्त मुख्य विकास अधिकारी द्वारा विकास खण्ड कार्यालय गदरपुर का आकस्मिक निरीक्षण किया गया । निरीक्षण के दौरान कतिपय कर्मचारीगणों द्वारा मास्क का उपयोग नहीं किया गया था । इसे अत्यधिक गंभीरता से लेते हुए सम्बन्धित कर्मचारियों को फटकार लगायी गयी तथा चेतावनी दी गयी कि कार्यालय मंे स्वयं मास्क का उपयोग करें तथा कार्यालय में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को भी मास्क पहनने की अनिवार्यता करें। विकास खण्ड कार्यालय के निरीक्षण के दौरान कतिपय कर्मचारियों की मेजों में उनके नाम, पदनाम की नाम पट्टिका, अल्मारियों में रखे गये अभिलेखों से सम्बन्धित सूची अल्मारी में चस्पा नहीं पाये जाने तथा कर्मचारियों के अपने पटल पर उपस्थित नहीं पाये जाने पर भी नाराजगी व्यक्त करते हुए सम्बन्धित कर्मचारियों को चेतावनी देते हुये कहा कि भविष्य में पुनरावृत्ति पाये जाने पर कठोर कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

मुख्य विकास अधिकारी ने विकास खण्ड द्वारा संचालित एवं क्रियान्वित योजनाओं की समीक्षा करते हुए समस्त योजनाओं की प्रगति में अपेक्षित सुधार लाने के निर्देश दिये तथा स्पष्ट निर्देश दिये कि धरातल पर प्रत्येक कार्य पूर्ण पारदर्शिता से उच्च गुणवत्तायुक्त निर्मित होने चाहिए यदि निकट भविष्य में ग्रामीण क्षेत्रों में किसी कार्य में अनियमितता पायी गयी तो सम्बन्धित समस्त कर्मचारियों के विरूद्व नियमानुसार कार्यवाही अमल में लायी जायेगी । उन्होने सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) को निर्देश दिये कि ग्राम पंचायत स्तर पर परिसम्पत्ति पंजिका सहित सभी पंजिकाएॅ उपलब्ध होने चाहिए तथा सभी पंजिकाओं में प्रविष्टियाॅ अध्यावद्यिक होनी चाहिए, अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित ग्राम पंचायत विकास अधिकारी सहित सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) को उत्तरदायी मानते हुए सम्बन्धितों के विरूद्व विभागीय कार्यवाही अमल में लायी जायेगी । निरीक्षण के दौरान अधिशासी अभियन्ता पेयजल निगम मृदुला सिंह सहित स्थानीय जनप्रतिनिधिगण एवं ग्रामीण उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar