उत्तराखण्ड समाचार

डॉ नवीन भट्ट बने चम्पावत परिसर के प्रथम निदेशक

डॉ नवीन भट्ट बने चम्पावत परिसर के प्रथम निदेशक… डॉ भट्ट के राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं में अनेकों शोध पत्र होने के साथ ही दर्जनों पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी है। अनेको संस्थाओं द्वारा डॉ भट्ट को योग के क्षेत्र व सामाजिक क्षेत्रों में किये गए अभूतपूर्व कार्यों के लिए सम्मानित किया जा चुका है।

खटीमा। खटीमा के एक छोटे से गांव में जन्मे डॉ नवीन भट्ट सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय के चम्पावत परिसर के नोडल अधिकारी के बाद चम्पावत परिसर के प्रभारी निदेशक होंगे। डॉ नवीन भट्ट खटीमा महाविद्यालय में पूर्व छात्र संघ में संयुक्त सचिव, महासचिव व छात्र संघ अध्यक्ष भी रहे।

डॉ नवीन भट्ट वर्ष 2006 में योग विज्ञान विभाग के प्रभारी, 2017 में कुमाऊँ विश्वविद्यालय में योग विज्ञान विभाग के अध्यक्ष, 2020 में सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय में योग विज्ञान विभाग के अध्यक्ष रहे, 2021 से स्वामी विवेकानन्द शोध व अध्धयन केंद्र के निदेशक के साथ ही नमामि गंगे के नोडल अधिकारी भी रहे।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की घोषणा के बाद चम्पावत परिसर अस्तित्व में आया तब उसकी व्यवस्थाओं के निर्वहन के लिए डॉ नवीन भट्ट को चम्पावत परिसर का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया था। चम्पावत परिसर के लिए डॉ नवीन भट्ट को चम्पावत परिसर का प्रथम प्रभारी निदेशक नियुक्त किया गया है।

डॉ भट्ट के राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं में अनेकों शोध पत्र होने के साथ ही दर्जनों पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी है। अनेको संस्थाओं द्वारा डॉ भट्ट को योग के क्षेत्र व सामाजिक क्षेत्रों में किये गए अभूतपूर्व कार्यों के लिए सम्मानित किया जा चुका है।

मधुमक्खियों का हमला, 60 लोगों को काटा… सड़क पर मची खलबली


डॉ नवीन भट्ट बने चम्पावत परिसर के प्रथम निदेशक... डॉ भट्ट के राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं में अनेकों शोध पत्र होने के साथ ही दर्जनों पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी है। अनेको संस्थाओं द्वारा डॉ भट्ट को योग के क्षेत्र व सामाजिक क्षेत्रों में किये गए अभूतपूर्व कार्यों के लिए सम्मानित किया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar
Verified by MonsterInsights