उत्तराखण्ड समाचार

पहाड़ में कई रूट पर बहनें मुफ्त यात्रा से रही वंचित

पहाड़ में कई रूट पर बहनें मुफ्त यात्रा से रही वंचित, वाहन मालिक गोलू भाई और चालक नैना भाई ने बताया कि राखी के दिन उनके वाहन में अधिकतर महिला सवारी ही यात्रा करती हैं। आने वाले वर्षों में भी इसी तरह अपनी शुरू की गई परंपरा का पालन करते रहेंगे।

अल्मोड़ा। रक्षाबंधन पर्व पर जिले में रोडवेज की 14 सेवाओं में से तीन सेवाओं का संचालन स्थगित रहा है। कई पर्वतीय रूटों में रोडवेज की सेवाएं न होने से पहाड़ जाने वाली बहनों को मुफ्त यात्रा का लाभ नहीं मिल पाया। वह टैक्सी, केमू में 150 से 300 रुपये टिकट लेकर भाई के घर पहुंची जिससे उन्हें आर्थिक नुकसान हुआ।

नैनीताल को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला गिरफ्तार

रक्षाबंधन पर्व पर शासन ने भाई के घर जाने वाली महिलाओं को मुफ्त यात्रा की सुविधा दी थी लेकिन जिले में अधिकतर रूट पर बहनें मुफ्त यात्रा के लाभ से वंचित रहीं। जिला मुख्यालय स्थित रोडवेज डिपो से 14 सेवाओं का संचालन रोजाना होता है। रक्षाबंधन पर्व पर तीन सेवाओं का संचालन स्थगित रहा।

वहीं कई पर्वतीय रूटों में रोडवेज बसों का संचालन ही नहीं होता है। ऐसे में पर्वतीय क्षेत्र की कई रूटों में बहनों को मुफ्त यात्रा का लाभ नहीं मिला। बहने टैक्सी, केमू में 150 से 300 रुपये टिकट लेकर भाई के घर रवाना हुई। जिससे उनकी जेब ढीली हुई।

पाप का घड़ा एक दिन भरता ही है : त्रिवेंद्र रावत

रक्षाबंधन पर्व पर आवाजाही बढ़ने से नगर के बस स्टेशन और टैक्सी स्टैंड में यात्रियों की भीड़ रही। स्टेशनों में यात्रियों को गंतव्य को जाने के लिए बस का इंतजार करना पड़ा। बसों में सीट पाने के लिए भी यात्रियों में होड़ रही। रानीखेत से भिकियासैंण जा रही रेनू ने बताया कि रोडवेज बस का संचालन न होने से टैक्सी में किराया देकर भाई के घर जा रही हूं। मुफ्त यात्रा का लाभ नहीं मिलने पर नाराजगी जताई।



रानीखेत से गरुड़ जा रही रोशनी ने बताया कि रोडवेज की सेवा न होने से निजी वाहन से भाई के घर जा रही हूं। पर्वतीय रूटों पर भी रोडवेज बसों का संचालन किया जाए। रानीखेत से भिकियासैंण जा रही पूजा ने बताया कि रोडवेज की एक भी सेवा संचालित नहीं होती है। ऐसे में टैक्सी में किराया चुकाकर जाना पड़ रहा है। आधे से अधिक महिलाओं को मुफ्त यात्रा का लाभ नहीं मिला।



इन रूटों पर मिला लाभ

  • अल्मोड़ा- देहरादून
  • अल्मोड़ा-दिल्ली
  • अल्मोड़ा-हरिद्वार
  • अल्मोड़ा-मासी
  • अल्मोड़ा- चंडीगढ़
  • अल्मोड़ा- लखनऊ
  • अल्मोड़ा-गुरुग्राम

पड़ोसी ने बच्चे को डांटा, स्वजन पहुंचे तो कर दी लाठी-डंडों से पिटाई

इन रूटों पर नहीं मिला लाभ

  • अल्मोड़ा-सोमेश्वर
  • लमगड़ा-बिरखम-जमाड
  • अल्मोड़ा-जागेश्वर



ये सेवाएं रही स्थगित

  • अल्मोड़ा-टनकपुर
  • अल्मोड़ा-लमगड़ा-दिल्ली
  • बेतालघाट-दिल्ली

देहरादून : सावधान, यहां है कुत्तों का आतंक

चालकों की कमी से तीन रूटों पर सेवाएं स्थगित रही। शेष सभी सेवाएं संचालित हुई। शासनादेश के मुताबिक बसों में बहनों को मुफ्त यात्रा का लाभ दिया गया।

– राजेंद्र कुमार, सहायक महाप्रबंधक, रोडवेज डिपो अल्मोड़ा

गोलू और नैना भाई ने बहनों को फ्री कराई यात्रा

रक्षाबंधन के दिन बागेश्वर से कोटमन्या तक चलने वाली गोलू और नैना भाई की टैक्सी में महिलाओं को फ्री यात्रा का तोहफा मिला। महिला यात्रियों से वाहन मालिक और चालक दोनों ने राखी बंधवाई और बदले में उन्हें निशुल्क यात्रा करवाई। दोफाड़ निवासी गजेंद्र सिंह कालाकोटी (गोलू भाई) की ट्रेवलर रोजाना बागेश्वर से बाया रीमा, पचार होते हुए कोटमन्या तक जाती है।

भूख हड़ताल : कर्मी ने खुद को शौचालय में किया बंद

शाम को गाड़ी वापस बागेश्वर पहुंचती है। वाहन को नैना कुमार (नैना भाई) चलाते हैं। पिछले 16 साल से हर साल गोलू भाई के वाहन में रक्षाबंधन के दिन महिलाओं को फ्री यात्रा करवाई जाती है। बृहस्पतिवार को मायके जाने वाली महिलाओं ने सुबह टैक्सी स्टैंड पर पहुंचकर गोलू और नैना को राखी बांधी और उनके सुखी जीवन की कामना की।



वाहन मालिक गोलू भाई और चालक नैना भाई ने बताया कि राखी के दिन उनके वाहन में अधिकतर महिला सवारी ही यात्रा करती हैं। आने वाले वर्षों में भी इसी तरह अपनी शुरू की गई परंपरा का पालन करते रहेंगे।


👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

पहाड़ में कई रूट पर बहनें मुफ्त यात्रा से रही वंचित, वाहन मालिक गोलू भाई और चालक नैना भाई ने बताया कि राखी के दिन उनके वाहन में अधिकतर महिला सवारी ही यात्रा करती हैं। आने वाले वर्षों में भी इसी तरह अपनी शुरू की गई परंपरा का पालन करते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar
Verified by MonsterInsights