राष्ट्रीय समाचार

सरकार पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप, प्रियंका गांधी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

सरकार पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप, प्रियंका गांधी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज… मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रमुख कमलनाथ ने संवाददाताओं से कहा कि भ्रष्टाचार के हजारों मामले हैं। वे कितने मामले दायर करेंगे?

भोपाल/इंदौर। मध्य प्रदेश सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप वाले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा के सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर भाजपा ने शनिवार को इंदौर में प्रियंका गांधी और कमलनाथ समेत अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई। इस मामले में ग्वालियर में भी प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। इससे पहले दिन में भाजपा नेताओं ने कांग्रेस महासचिव के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी थी। विवादास्पद सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर इंदौर में प्रियंका गांधी वाद्रा, कमलनाथ और अरुण यादव सरीखे वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के खिलाफ शनिवार रात प्राथमिकी दर्ज की गई।

पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त रामसनेही मिश्रा ने बताया कि शहर के संयोगितागंज पुलिस थाने में ज्ञानेंद्र अवस्थी और अन्य के साथ ही संबंधित ट्विटर हैंडल पर दर्ज नाम के आधार पर प्रियंका गांधी वाद्रा, कमलनाथ और अरुण सुभाष यादव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि यह प्राथमिकी भाजपा के विधि प्रकोष्ठ की इंदौर इकाई के संयोजक नीमेष पाठक की शिकायत पर भारतीय दंड विधान की धारा 420 (धोखाधड़ी) और धारा 469 (ख्याति को नुकसान पहुंचाने के इरादे से जालसाजी) के तहत दर्ज की गई है।

पाठक का आरोप है कि कांग्रेस नेताओं ने प्रदेश की भाजपा सरकार पर भ्रष्टाचार में शामिल होने के झूठे आरोप वाले भ्रामक सोशल मीडिया पोस्ट साझा कर प्रदेश सरकार और उनकी पार्टी की छवि खराब की। अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त ने बताया कि पुलिस संबंधित ट्विटर हैंडल की प्रामाणिकता की जांच कर रही है। वहीं, पुलिस अधीक्षक (एसपी) राजेश सिंह चंदेल ने कहा कि विवादास्पद सोशल मीडिया पोस्ट संबंध में ग्वालियर में एक मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि भाजपा की जिला कार्यसमिति के सदस्य पंकज पालीवाल की शिकायत पर ग्वालियर पुलिस की अपराध शाखा ने सत्तारूढ़ दल पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप लगाने वाले पत्र के संबंध में ज्ञानेंद्र अवस्थी और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

उन्होंने कहा कि भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 420 (धोखाधड़ी) और 469 (प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से जालसाजी) के तहत अवस्थी और अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। प्राथमिकी के अनुसार, शिकायतकर्ता ने कहा कि वायरल पत्र में अवस्थी और उनके संगठन लघु एवं मध्यम श्रेणी संविदाकार संघ का नाम बताया गया है, जिसका कार्यालय (पत्र के अनुसार) ग्वालियर के वसंत विहार इलाके में है। शिकायतकर्ता ने कहा कि खोजबीन करने पर उस मोहल्ले में ऐसा कोई व्यक्ति या संस्था नहीं मिली, इसलिए पत्र जाली है। प्रियंका के आरोप को झूठा बताते हुए मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस नेता से आरोप का समर्थन करने वाले सबूत मांगे और चेतावनी दी कि राज्य सरकार और भाजपा के सामने कानूनी कार्रवाई के विकल्प खुले हैं।

वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विपक्षी दल सोशल मीडिया पर ‘‘झूठ’’ फैला रहा है। जबकि, मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रमुख कमलनाथ ने दावा किया कि भ्रष्टाचार के हजारों मामले हैं। भाजपा की प्रदेश इकाई के प्रमुख वी.डी. शर्मा ने आरोप लगाने के लिए सोशल मीडिया पोस्ट में एक फर्जी पत्र का हवाला देने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस नेता के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी। हालांकि, कांग्रेस की प्रदेश इकाई ने कहा कि वह साबित करेगी कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार भ्रष्ट है और उसने सत्तारूढ़ दल पर ‘‘राजनीतिक आतंक’’ पैदा करने का भी आरोप लगाया।

प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को ट्विटर पर दावा किया कि मध्य प्रदेश के ठेकेदारों के एक संघ ने उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर शिकायत की है कि उन्हें 50 प्रतिशत कमीशन देने के बाद ही भुगतान मिलता है। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘कर्नाटक की भ्रष्ट भाजपा सरकार 40 प्रतिशत कमीशन वसूलती थी। मध्य प्रदेश में भाजपा सरकार भ्रष्टाचार के अपने ही रिकॉर्ड को तोड़कर आगे निकल गई है। कर्नाटक की जनता ने 40 प्रतिशत कमीशन वाली सरकार को सत्ता से बाहर कर दिया अब मध्य प्रदेश की जनता 50 प्रतिशत कमीशन वाली सरकार को सत्ता से हटाएगी।’’



इस आरोप का जवाब देते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस बिना किसी मुद्दे के ‘‘घृणित मानसिकता के साथ’’ राजनीति कर रही है। मंत्री ने दावा किया, ‘‘प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने पहले राहुल गांधी से झूठ बुलवाया और अब प्रियंका गांधी से झूठा पोस्ट करवाया। प्रियंका जी, अपने पोस्ट में लगाए गए आरोपों का सबूत दें, अन्यथा हमारे पास (कानूनी) कार्रवाई के लिए सभी विकल्प खुले हैं।’’ उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी को उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखने वाले उस व्यक्ति या ठेकेदार का नाम बताना चाहिए जिसका जिक्र उन्होंने अपने सोशल मीडिया पोस्ट में किया है।



पत्रकारों से बात करते हुए भाजपा नेता शर्मा ने कांग्रेस पर ‘‘सत्ता की भूखी होने और झूठ बोलकर सत्ता में आने’’ के लिए बेताब होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘‘यह एक साजिश है और भाजपा इस पोस्ट को लेकर साइबर अपराध के तहत कार्रवाई करेगी. उन्हें बताना होगा कि उन्हें यह पत्र कहां से मिला। आपने (प्रियंका गांधी) एक फर्जी पत्र के आधार पर ना केवल मध्य प्रदेश, बल्कि देश को गुमराह किया है।’’ भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व को इस पर जवाब देना होगा, भाजपा इस संबंध में कानूनी कार्रवाई करेगी। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष के.के. मिश्रा ने कहा कि उनकी पार्टी यह साबित कर देगी कि भाजपा सरकार भ्रष्ट है।



उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा को वास्तविकता स्वीकार करनी चाहिए, लेकिन सत्तारूढ़ दल ‘राजनीतिक आतंक’ पैदा कर रहा है…यह असंवैधानिक तरीके अपना रहा है। हम साबित कर देंगे कि सरकार भ्रष्ट है।’’ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर सोशल मीडिया पर झूठ फैलाने का आरोप लगाया। शनिवार को सोशल मीडिया के माध्यम से पत्र मिलने के बाद, चौहान ने कहा कि उन्होंने खुफिया विभाग को ग्वालियर के उस व्यक्ति और संगठन, लघु एवं मध्यम श्रेणी संविदाकार संघ का पता लगाने के लिए कहा, जिसने उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखा था। चौहान ने पत्र को फर्जी बताते हुए कहा कि कांग्रेस नेताओं द्वारा सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए इस पत्र में जिस व्यक्ति और संगठन का जिक्र किया गया है उसका कोई अस्तित्व नहीं है, यह सोशल मीडिया के जरिए लोगों को गुमराह करने की कांग्रेस की रणनीति है।





मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रमुख कमलनाथ ने संवाददाताओं से कहा कि भ्रष्टाचार के हजारों मामले हैं। वे कितने मामले दायर करेंगे? जब भ्रष्टाचार के मामले उजागर हो रहे हैं तो उनके (भाजपा) पास कोई विकल्प नहीं बचता। इस बीच, प्रदेश भाजपा मीडिया प्रकोष्ठ के प्रभारी आशीष अग्रवाल ने कहा कि भाजपा नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल पुलिस अपराध शाखा कार्यालय पहुंचा और प्रियंका गांधी सहित कांग्रेस नेताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की, जिन्होंने सत्तारूढ़ पार्टी की छवि खराब करने के लिए सोशल मीडिया पर फर्जी पत्र साझा किया। मध्य प्रदेश में इस साल नवंबर में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं।

पवन सिंह के ‘काशी में शिव शंकर’ गाने की धूम, शिवभक्त झूमे


👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

सरकार पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप, प्रियंका गांधी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज... मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रमुख कमलनाथ ने संवाददाताओं से कहा कि भ्रष्टाचार के हजारों मामले हैं। वे कितने मामले दायर करेंगे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar
Verified by MonsterInsights