फीचर

हे मेरी वर्षारानी

हे मेरी वर्षारानी, तब आपके आने की सूचना आंधी व तूफान के साथ भिजवाती हो या उन्हें अपने साथ लेकर आती हो जिससे सभी नाराज हो जाते है। चूंकि जब भी ये आते हैं तब तोडफोड व विनाश ही करते हैं। #सुनील कुमार माथुर, जोधपुर, राजस्थान

हे मेरी वर्षारानी। आपकों सपना व कल्पना का प्रणाम। हे वर्षारानी, आप जब आती हैं तब सबका जी खुश हो जाता हैं। जनता के मन में हर्ष की लहर छा जाती है। किसानों के चेहरे पर अपार खुशियां छा जाती हैं। पशु-पक्षी नाच उठते हैं। बाग – बगिचों में हरियाली छा जाती हैं।

बच्चें वर्षा के पानी में स्नान करते है, खेलते – कूदते हैं और सडकों पर बहते पानी में कागज की नाव बनाकर खेलते हैं और आनन्दित होते हैं। वर्षारानी, आपके आने से हमारे नदी – तालाबों व बांधों में पीने योग्य पानी भी आ जाता हैं और हमें जल संकट से मुक्ति मिलती हैं। लेकिन आप से एक शिकायत है कि आप जब भी आती हैं।

तब आपके आने की सूचना आंधी व तूफान के साथ भिजवाती हो या उन्हें अपने साथ लेकर आती हो जिससे सभी नाराज हो जाते है। चूंकि जब भी ये आते हैं तब तोडफोड व विनाश ही करते हैं। ये इतने बदमाश है कि किसी गरीब का छप्पर उडा देते हैं।

हरे-भरे वृक्षों, बिजली के पोल ( खम्भे ), टावर, बिल्डिंगे, विज्ञापनों के विशाल होल्डिंग गिराकर भारी तबाही मचाते हैं। अतः वर्षारानी, आप से विनती हैं कि आप समय समय पर पधारे। लेकिन इन आंधी – तूफान को अपने साथ न तो लाये और नहीं इनके साथ आपके आगमन की सूचना भेजे।

पत्रकारिता का स्वरुप बिगाड़ रहे हैं तथाकथित डिजिटल समाचार चैनल

हे वर्षारानी, हमारी बात को अन्यथा न लें। हमने तो आपकों आंधी और तूफान की हरकतों से अवगत कराया हैं। अब आप जानें कि इनके साथ क्या सलूक किया जायें। आपकी प्यारी बहना “सपना और कल्पना”

सोशल मीडिया में निकलती मन की भड़ास


👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar
Verified by MonsterInsights