पर्यटन

प्रकृति के सौन्दर्यकरण का आनंद लीजिए

प्रकृति के सौन्दर्यकरण का आनंद लीजिए, प्रकृति की अनोखी छटा देखिए। पहाड, तालाब, बहते झरने देखिये। फूल पतियों की छटा देखिये। पक्षियों की मधुर आवाज सुने। पार्क में जाये वहां के सौन्दर्य… ✍️ सुनील कुमार माथुर

प्रकृति का सौन्दर्य बडा ही निराला हैं। प्रकृति ने मनुष्य को बहुत कुछ दिया हैं लेकिन इंसान ने अपने स्वार्थ की खातिर प्रकृति के साथ खिलवाड किया हैं और आज भी धडल्ले से कर रहा हैं। इसी के परिणाम प्रकृति अब इंसान से बदला ले रही हैं।

बाढ, भूकम्प, नाना प्रकार की बीमारियों का आना यह क्या हैं उसी का ही तो परिणाम है। इंसान अब भी वक्त हैं समल जा, रुक जा। वरना आने वाला वक्त ही बतायेगा कि मनमानी का अर्थ मौत ही है।

प्रकृति की अनोखी छटा देखिए। पहाड, तालाब, बहते झरने देखिये। फूल पतियों की छटा देखिये। पक्षियों की मधुर आवाज सुने। पार्क में जाये वहां के सौन्दर्य, आबो हवा, झूलो का आनंद ले। सपरिवार या अपनी मित्र मंडली के साथ घूमने जायें और वहां मधुर आवाज में नाना प्रकार के खेल खेले। गाने, भजन गये। अंताक्षरी, हाऊजी जैसे खेल खेलें और प्रकृति के सौन्दर्य को निहारे।

अगर आप अपने साथ घर से भोजन बनाकर लें जा रहे ताकि पिकनिक स्पॉट पर खायें तो इस बात का ध्यान रखें कि वहां गंदगी न फैले। कहने का तात्पर्य यह है कि स्वच्छता का पूरा ध्यान रखे। स्वच्छता जहां होगी वहीं आबोहवा शुध्द होगी।

राजस्थान का सुंदर शहर “बीकानेर”


¤  प्रकाशन परिचय  ¤

प्रकृति के सौन्दर्यकरण का आनंद लीजिए, प्रकृति की अनोखी छटा देखिए। पहाड, तालाब, बहते झरने देखिये। फूल पतियों की छटा देखिये। पक्षियों की मधुर आवाज सुने। पार्क में जाये वहां के सौन्दर्य... ✍️ सुनील कुमार माथुर
From »

सुनील कुमार माथुर

स्वतंत्र लेखक व पत्रकार

Address »
33, वर्धमान नगर, शोभावतो की ढाणी, खेमे का कुआ, पालरोड, जोधपुर (राजस्थान)

Publisher »
देवभूमि समाचार, देहरादून (उत्तराखण्ड)

👉 देवभूमि समाचार में इंटरनेट के माध्यम से पत्रकार और लेखकों की लेखनी को समाचार के रूप में जनता के सामने प्रकाशित एवं प्रसारित किया जा रहा है। अपने शब्दों में देवभूमि समाचार से संबंधित अपनी टिप्पणी दें एवं 1, 2, 3, 4, 5 स्टार से रैंकिंग करें।

प्रकृति के सौन्दर्यकरण का आनंद लीजिए, प्रकृति की अनोखी छटा देखिए। पहाड, तालाब, बहते झरने देखिये। फूल पतियों की छटा देखिये। पक्षियों की मधुर आवाज सुने। पार्क में जाये वहां के सौन्दर्य... ✍️ सुनील कुमार माथुर

बोधगया : महात्मा बुद्ध की ज्ञान स्थली

10 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Devbhoomi Samachar
Verified by MonsterInsights